Friday , December 15 2017

चीफ मिनिस्टर ए पी चंद्र बाबू का आज से अज़ला का दौरा

चीफ मिनिस्टर आंध्र प्रदेश एन चंद्र बाबू नायडू ने नज़्मो-नस्क़ पर गिरिफ़्त मज़बूत करने और ओहदेदारों को जवाबदेह बनाने के लिए आज से अज़ला के दौरों का आग़ाज़ किया है। चूँकि आंध्र प्रदेश रियासत के लिए अभी तक अलाहिदा दारुल हुकूमत का इंतिख़ाब

चीफ मिनिस्टर आंध्र प्रदेश एन चंद्र बाबू नायडू ने नज़्मो-नस्क़ पर गिरिफ़्त मज़बूत करने और ओहदेदारों को जवाबदेह बनाने के लिए आज से अज़ला के दौरों का आग़ाज़ किया है। चूँकि आंध्र प्रदेश रियासत के लिए अभी तक अलाहिदा दारुल हुकूमत का इंतिख़ाब नहीं किया जा सका और हैदराबाद 10 बरसों तक मुशतर्का दारुल हुकूमत बरक़रार रहेगा। लिहाज़ा चंद्र बाबू नायडू सिर्फ़ हैदराबाद में बैठ कर हुकूमत चलाने के बजाय हर हफ़्ता अज़ला के दौरा का मंसूबा रखते हैं।

बताया जाता है कि वो हफ़्ता में कम अज़ कम 5 दिन आंध्र प्रदेश के मुख़्तलिफ़ अज़ला का दौरा करते हुए अवामी मसाइल की समाअत और यक्सूई को यक़ीनी बनाएंगे। चीफ मिनिस्टर की हैसियत से उन्हों ने ज़िला मग़रिबी गोदावरी से अपने दौरा का आग़ाज़ किया।

उन के दौरे में मुख़्तलिफ़ मह्कमाजात के आला ओहदेदार भी शरीक होंगे। मग़रिबी गोदावरी में अवाम से ख़िताब करते हुए चंद्र बाबू नायडू ने कहा कि आंध्र प्रदेश की तक़सीम के बाद 13 अज़ला पर मुश्तमिल आंध्र प्रदेश रियासत कई मसाइल से दो-चार है।

मुख़्तलिफ़ शोबों में तरक़्क़ी के लिए हुकूमत को अज़ सरे नव इक़दामात करने होंगे। चंद्र बाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश में नए इंजनीयरिंग और मेडिकल कॉलेजेस के क़ियाम का भी एलान किया। उन्हों ने कहा कि पोलावरम प्रोजेक्ट 4 बर्सों में मुकम्मल करने का मंसूबा है इस सिलसिले में मर्कज़ी हुकूमत से तआवुन हासिल किया जाएगा।

उन्हों ने बताया कि 2 अक्तूबर से वज़ाइफ़ की अदाएगी की स्कीम पर अमल आवरी रोक दी जाएगी।

TOPPOPULARRECENT