Monday , December 18 2017

चीफ मिनिस्टर के कहने पर सीमा आंध्र एहतेजाज : दिनेश रेड्डी

साबिक़ डायरेक्टर जनरल पुलिस वि दिनेश रेड्डी ने अपने ओहदे से सुबकदोशी के अंदरून 8 दिन चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी के ख़िलाफ़ सनसनीखेज़ रिमार्कस करते हुए कई इन्किशाफ़ात किए और बताया कि किरण कुमार रेड्डी ने महिज़ अपने छोटे

साबिक़ डायरेक्टर जनरल पुलिस वि दिनेश रेड्डी ने अपने ओहदे से सुबकदोशी के अंदरून 8 दिन चीफ़ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी के ख़िलाफ़ सनसनीखेज़ रिमार्कस करते हुए कई इन्किशाफ़ात किए और बताया कि किरण कुमार रेड्डी ने महिज़ अपने छोटे भाई संतोष रेड्डी की गै़रक़ानूनी सरगर्मीयों खसकर ज़मिनत पर ग़ैर मजाज़ क़ब्ज़ों को रोकने की वजह से उनकी मीयाद में तौसीअ ना करके सबकदोश कर दिया।

उन्होंने कहा कि किरण कुमार रेड्डी बुनियादी तौर पर मुत्तहदा रियासत के हामी और अलाहिदा तेलंगाना के कट्टर मुख़ालिफ़ हैं। सीमा आंध्र चीफ़ मिनिस्टर का ही रोल अदा कररहे हैं।

उन्होंने आज अख़बारी नुमाइंदों से बात करते हुए इस बात की वज़ाहत की के वो डी जी पी रहते हुए ये तमाम इन्किशाफ़ात इस लिए नहीं किए कि ज़ाबता सरकारी मुलाज़मत के तहत उन्हें इन इन्किशाफ़ात का हक़ हासिल नहीं था और कहा कि चीफ़ मिनिस्टर अपने मुत्तहदा रियासत के मौक़िफ़ को मज़बूत-ओ-मुस्तहकम बनाने अलाहिदा तेलंगाना की तशकील की सूरत में नेक्सलाइटस सरगर्मीयों में इज़ाफ़ा होजाने की ज़राए इबलाग़ के ज़रीये तशहीर करवाने के लिए उन पर ज़बरदस्त दबाओ डाल रहे थे लेकिन उन्होंने किरण कुमार रेड्डी के इस दबाओ को कुबूल नहीं किया था।

पिछ्ले दिनों गच्ची बाओली इलाके में सीमा आंध्र एडवोकेटस को जलसा मुनाक़िद करने की इजाज़त देने चीफ़ मिनिस्टर ने दबाओ डाला था।

लेकिन उन्होंने दबाओ-ओ-हिदायत को नजरअंदाज़ करके सीमा आंध्र एडवोकेटस को जलसे की इजाज़त नहीं दी थी जिस की वजह से ही चीफ़ मिनिस्टर ने उन्हें मीयाद में तौसीअ देने से इनकार कर दिया था।

उन्होंने इन्किशाफ़ात करते हुए कहा कि 30 जुलाई को अलाहिदा रियासत तेलंगाना के एलान से पहले सीमा आंध्र में मर्कज़ी नियम फोर्सेस को तायुनात करने पर भी चीफ़ मिनिस्टर राज़ी नहीं थे बल्कि अपनी नाराज़गी का इज़हार किया था।

इस के अलावा चीफ़ मिनिस्टर ने एस पी अनंतपुर का तबादला करने की तजवीज़ पेश करने की हिदायत दी थी। लेकिन उन्होंने इस हिदायत पर अमल करने से इनकार कर दिया था और अनंतपुर एस पी के तबादले की मुख़ालिफ़त की थी।

ये भी चीफ़ मिनिस्टर को नागवार गुज़रा किसी वजूहात के बगै़र ही बाअज़ सीनीयर एस पीज़ के तबादले करने की तजावीज़ पेश करने दबाओ डाला था।

दिनेश रेड्डी ने चीफ़ मिनिस्टर को अपनी शदीद तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए किरण कुमार रेड्डी को नाकाम चीफ़ मिनिस्टर क़रार दिया और कहा कि महिज़ उनके केहने पर ही सीमा आंध्र में एहतेजाज-ओ-जद्द-ओ-जहद जारी है।

उन्होंने उनके इन इन्किशाफ़ात के पसेपर्दा कोई हाथ कारफ़रमा रहने से मुताल्लिक़ सवाल पर कहा कि उनके पसेपुश्त कोई सयासी क़ाइदीन हरगिज़ नहीं हैं और वाज़िह तौर पर कहा कि इन का सियासत में आने का कोई इरादा नहीं है।

उन्होंने कहा कि किरण कुमार रेड्डी अपने ज़ाती एजंडे पर कारबन्द हैं जबकि पुलिस ओहदेदारों की तरक़्क़ियों से मुताल्लिक़ फाईलस चीफ़ मिनिस्टर की पेशी में तवील अर्सा से जूं की तूं पड़ी हुई हैं।

उन्होंने चीफ़ मिनिस्टर पेशी के ओहदेदारों को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि अगर कोई फाईलस को मामूली क्लर्क अपने पास रख लेता है तो उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की जाती है लेकिन यहां ओहदेदार फाईलस अपने पास रखने पर उनके ख़िलाफ़ कोई कार्रवाई नहीं की जाती।

दिनेश रेड्डी ने कहा कि उनकी मीयाद में तौसीअ देने के सिलसिले में चीफ़ मिनिस्टर ने चंद माह पहले ही उन्हें वाज़िह तीक़न दिया था लेकिन हालिया दिनों में महिज़ उन्हें चीफ़ मिनिस्टर की बाअज़ ग़ैर मजाज़ हिदायात को नजरअंदाज़ करने इनकार कर दिया और वाअदा करके चीफ़ मिनिस्टर ने उनके साथ धोका किया।

अख़बारी नुमाइंदों के इस सवाल पर कि आया आप के चीफ़ मिनिस्टर के ख़िलाफ़ आइद करदा इल्ज़ामात पर कोई कार्रवाई की जाने का कोई ख़ौफ़ नहीं है, रेड्डी ने कहा कि मेरे ख़िलाफ़ कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं है और उनके पास तमाम साबुत मौजूद हैं और अगर कोई उनके ख़िलाफ़ क़ानूनी कार्रवाई करे तो वो भी ख़ामोश नहीं रहेंगे।

TOPPOPULARRECENT