Monday , June 25 2018

चीफ मिनिस्टर के लिए तेलंगाना की मुख़ालिफ़त मुनासिब नहीं

चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने हैदराबाद मर्कज़ी वज़ीर फाइनैंस मिस्टर पी चिदम़्बरम से ख़ैरसिगाली मुलाक़ात की और रियासत की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया।

चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने हैदराबाद मर्कज़ी वज़ीर फाइनैंस मिस्टर पी चिदम़्बरम से ख़ैरसिगाली मुलाक़ात की और रियासत की सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया।

ज़राए के मुताबिक़ चीफ़ मिनिस्टर ने मर्कज़ी वज़ीर से दौरान गुफ़्तगु अलहदा तेलंगाना की तशकील के लिए सदर नशीन यू पी ए-ओ-सदर कांग्रेस सोनीया गांधी के फ़ैसले पर इख़तेलाफ़ राय का इज़हार किया और नाराज़गी जताई।

उन्होंने बताया कि मुत्तहदा रियासत को बरक़रार रखने कहा हाईकमान से मुतालिबा करने वो कल दिल्ली जाने का इरादा रखते हैं। बताया जाता हैके चीफ़ मिनिस्टर से इत्तिफ़ाक़ ना करके चिदम़्बरम ने वाज़िह तौर पर कहा कि हाईकमान ने जो फ़ैसला किया है वो तवील अर्सा तक हालात का जायज़ा लेने के अलावा रियासत की तमाम जमातों के साथ मीटिंग तलब करके और तहरीरी मुक्तुबात हासिल करके ही किया है और इस पर बहैसीयत चीफ़ मिनिस्टर कांग्रेस सदर नशीन यू पी ए सदर के फ़ैसले पर इख़तेलाफ़ राय नहीं की जानी चाहिए और इस तरह का इक़दाम आप के लिए मुनासिब नहीं होगा।

दिल्ली पहुंच कर नुमाइंदगी फ़ायदेमंद साबित नहीं होगी। बताया जाता हैके मर्कज़ी वज़ीर फाइनैंस ने उन्हें दिल्ली का दौरा करने से एतेराज़ करने का मश्वरह दिया जिस पर चीफ़ मिनिस्टर ने 17 सितंबर को दिल्ली रवानगी के प्रोग्राम को मुल्तवी कर दिया।

समझा जाता हैके चीफ़ मिनिस्टर मर्कज़ी वज़ीर फाइनैंस मिस्टर चिदम़्बरम से हुई तफ़सीली बातचीत और हक़ीक़ी सूरत-ए-हाल से वाक़फ़ीयत हासिल करने के बाद अपने दौरा दिल्ली के प्रोग्राम को मुल्तवी करने का फैसला किया है।

TOPPOPULARRECENT