Wednesday , December 13 2017

चीफ मिनिस्टर को अकलियती बहबूद का क़लमदान अपने पास रखने का मश्वरा

हैदराबाद । 10 जनवरी : ( सियासत न्यूज़ ) रियासती सदर जुमित अलालमा-ए-ओ-रुकन क़ानूनसाज़ कौंसल हाफ़िज़ पिर शब्बीर अहमद ने अक़ल्लीयतों के मसाइल पर रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर मुहम्मद अहमद उल्लाह की अदम दिलचस्पी पर तशवीश का इज़ह

हैदराबाद । 10 जनवरी : ( सियासत न्यूज़ ) रियासती सदर जुमित अलालमा-ए-ओ-रुकन क़ानूनसाज़ कौंसल हाफ़िज़ पिर शब्बीर अहमद ने अक़ल्लीयतों के मसाइल पर रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर मुहम्मद अहमद उल्लाह की अदम दिलचस्पी पर तशवीश का इज़हार करते हुए चीफ मिनिस्टर मिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से अपील की कि वो वज़ारत अकलियती बहबूद का क़लमदान अपने पास रख लें और कम अज़ कम महीने दो महीने में कांग्रेस के मुंतख़ब और नामज़द मुस्लिम अवामी नुमाइंदों का इजलास तलब करते हुए राय मश्वरा करें । जनाब हाफ़िज़ पिर शब्बीर अहमद ने कहा कि रियासत में कांग्रेस की तशकील हुकूमत के लिये अक़ल्लीयतों बिलख़सूस मुस्लमानों ने अहम रोल अदा किया है ।

अक़ल्लीयतों के मसाइल को दूर करना और उन की फ़लाह-ओ-बहबूद को तरजीह देना हुकूमत की ज़िम्मेदारी है । रियासत में अक़ल्लीयतें कई मसाइल से दो-चार हैं इस पर ख़ुसूसी तवज्जा देने में रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर अहमद उल्लाह नाकाम होगए हैं । उन्हों ने अज़ला का दौरा करते हुए अक़ल्लीयतों के मसाइल से कभी वाक़फ़ियत हासिल करने की कोशिश नहीं की । सिर्फ अपने आप को हैदराबाद और कड़पा तक महिदूद रखा हुकूमत की जानिब से बजट पेश करने की तैयारीयों का आग़ाज़ होगया है ।

रियासती वज़ीरअकलियती बहबूद ने वज़ारत की ज़िम्मेदारी क़बूल करने के बाद से आज तक हुकमरान कांग्रेस के मुस्लिम मुंतख़ब और नामज़द अवामी नुमाइंदों का इजलास तलब नहीं किया और ना ही अक़ल्लीयतों के मसाइल हल करने के लिये उन से कोई राय मश्वरा किया और ना ही तजावीज़ तलब की हैं । उन की चीफ मिनिस्टर मिस्टर इन किरण कुमार रेड्डी से अपील है कि वो मिस्टर अहमद अल्लाह को वज़ीर बरक़रार रखें ताहम उन से वज़ारत अकलियती बहबूदका क़लमदान वापिस लें ।

जब तक दूसरे मुस्लिम क़ाइद को वज़ीर नहीं बनाया जाता । अकलियती बहबूद का क़लमदान अपने पास रखें और अक़ल्लीयतों की तरक़्क़ी बहबूद को यक़ीनी बनाने केलिए कांग्रेस के मुंतख़ब और नामज़द मुस्लिम क़ाइदीन से हर माहिया दो माह में एक मर्तबा इजलास तलब करें । हाफ़िज़ पैर शब्बीर अहमद ने कहा कि बेक़सूरमुस्लिम नौजवानों को इंसाफ़ दिलाने के मुआमले में जमीत अलालमा-ए-ने भी अहम रोल अदा किया है

लेकिन रियासती वज़ीर अकलियती बहबूद मिस्टर अहमद अल्लाह ने बेक़सूरमुस्लिम नौजवानों को मुआवज़ा तक़सीम करने की सरकारी तक़रीब में हुकमरान जमात और शहर की नुमाइंदगी करने वाले दूसरे मुंतख़ब और नामज़द अवामी नुमाइंदों को नज़रअंदाज करते हुए प्रोटोकॉल की ख़िलाफ़वरज़ी की है जिस की वो चीफ मिनिस्टर मिस्टर किरण कुमार रेड्डी और मर्कज़ी वज़ीर सेहत-ओ-इंचार्ज आंधरा प्रदेश कांग्रेस उमूर मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद और सोनिया गांधी के सयासी मुशीर मिस्टर अहमद पटेल से शिकायत करचुके हैं ।।

TOPPOPULARRECENT