चीफ़ जस्टिस हाइकोर्ट की गवर्नर से मुलाक़ात

चीफ़ जस्टिस हाइकोर्ट की गवर्नर से मुलाक़ात
दिन भर जारी ड्रामाई सरगर्मीयों के दौरान हाइकोर्ट के चीफ़ जस्टिस दिलीप बाबा साहिब भोसले ने राज भवन पहूंच कर गवर्नर से मुलाक़ात की जिस की सियासी हलक़ों में काफ़ी एहमीयत होगई है।

दिन भर जारी ड्रामाई सरगर्मीयों के दौरान हाइकोर्ट के चीफ़ जस्टिस दिलीप बाबा साहिब भोसले ने राज भवन पहूंच कर गवर्नर से मुलाक़ात की जिस की सियासी हलक़ों में काफ़ी एहमीयत होगई है।

नोट बराए वोट और टेलीफ़ोन टैपिंग का मसला सुबह से सुर्ख़ीयों में रहा। दोनों रियासतों के चीफ़ मिनिस़्टरों ने अपनी अपनी रियासतों के पुलिस ओहदेदारान से मुलाक़ात की और दोनों रियासतों के ओहदेदारों ने गवर्नर से मुलाक़ात करते हुए अपने मौक़िफ़ की वज़ाहत की।

गवर्नर और चीफ़ जस्टिस के दरमियान हुई बातचीत का इलम नहीं हुआ। ताहम बावसूक़ ज़राए से पता चला हैके दोनों रियासतों के ताज़ा सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया।

चीफ़ सेक्रेटरी आंध्र प्रदेश और डी जी पी आंध्र प्रदेश रामूडू ने गवर्नर से मुलाक़ात की। बावसूक़ ज़राए से पता चला हैके आंध्र प्रदेश के दो आला ओहदेदारों ने गवर्नर से अपनी मुलाक़ात में कहा हैके उन्हें तेलंगाना की पुलिस पर भरोसा नहीं है और हैदराबाद आइन्दा दस साल तक दोनों रियासतों का मुशतर्का सदर मुक़ाम है लिहाज़ा हैदराबाद में आंध्र के वुज़रा और मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों के अलावा अवाम के तहफ़्फ़ुज़ के लिए आंध्र प्रदेश की पुलिस को ज़िम्मेदारी देने की अपील की।

Top Stories