Saturday , December 16 2017

चीफ़ मिनिस्टर आसाम तरूण गोगोई की मज़हकाख़ेज़ मंतिक़ काबिल-ए-मुज़म्मत

रुकन फ़ूड कारपोरेशन आफ़ इंडिया जनाब मुहम्मद असमईल हुसैन सीनीयर कांग्रेस क़ाइद-ओ-स्टेट कन्वीनर आंधरा प्रदेश कांग्रेस अक़ल्लीयत डिपार्टमैंट ने अपने एक सहाफ़ती ब्यान में कहा कि चीफ़ मिनिस्टर आसाम मिस्टर तरूण गोगोई ने

रुकन फ़ूड कारपोरेशन आफ़ इंडिया जनाब मुहम्मद असमईल हुसैन सीनीयर कांग्रेस
क़ाइद-ओ-स्टेट कन्वीनर आंधरा प्रदेश कांग्रेस अक़ल्लीयत डिपार्टमैंट ने
अपने एक सहाफ़ती ब्यान में कहा कि चीफ़ मिनिस्टर आसाम मिस्टर तरूण गोगोई ने
सी एन एन। वे बी एन टी वी चिया नल पर करण थापर के प्रोग्राम में इंटरव्यू
देते हुए मुस्लमानों की आबादी में इज़ाफ़ा को हक़बजानिब क़रार देने की जो
कोशिश की है वो काबिल-ए-मुज़म्मत है, और कहा कि मुस्लमानों की आबादी में
इज़ाफ़ा को हक़बजानिब क़रार देने के लिए इन में नाख़्वान्दगी को बुनियाद बनाते
हुए अपनी ज़िम्मेदारी से दामन बचाने के इलावा और तमाम ज़िम्मेदारी
मुस्लमानों के सर थोपने की दानिस्ता कोशिश के ज़रीया एक नया तनाज़ा छेड़
दिया है। जनाब मुहम्मद असमईल हुसैन ने मज़ीद कहा कि क़ुरआन मजीद जिस पर
मुस्लमान अमल पैरा हैं इन से ये कहता है अपने बच्चों को रिज़्क की तंगी के
ख़ौफ़ से क़तल मत करो, हम रिज़्क तुम्हें भी और उन्हें भी देंगे मुस्लमान
अहकाम रब्बानी का कामिल इदराक रखता है।

उसे नाख़्वान्दा नहीं कहा जा सकता और अल्लाह ताला सिर्फ मुस्लमानों का ही रब नहीं है बल्कि वो रब अलालमीन
है। चीफ़ मिनिस्टर आसाम तरूण गोगोई जो इलम के मुआमला में नाख़्वान्दा मालूम होते हैं उन्हें ये तक नहीं मालूम कि कारख़ाना क़ुदरत में कायनात की हर
ज़िंदा शए तक रिज़्क किस तरह पहुंचता है, इस की बसीरत तक वो नहीं रखते। चीफ़ मिनिस्टर आसाम का ब्यान मर्कज़ी क़ियादत के लिए एक लम्हा फ़िक्र है क्यों कि पहले तो तरूण गोगोई अपनी रियासत में नसली फ़सादाद पर क़ाबू पाने में यकसर नाकाम रहे जिस से बोडो क़बाइल ने बेशुमार मुस्लमानों को हलाक करदिया, और उन की आबादीयों को जलाकर ख़ाकसतर करदिया, वहां के मुस्लमान अपने इस सदमा से सँभल भी नहीं पाए कि इन के ज़ख़मों पर मरहम रखने के बजाय चीफ़ मिनिस्टर आसाम ने धड़ल्ले से ये इल्ज़ाम लगा दिया है कि मुस्लमान नाख़्वान्दा हैं।

इन का ये ब्यान ज़ख़मों पर नमक छिड़कने के मुमासिल है। अब जब कि फ़ाशिस्ट आर ऐस इसके ज़ेर-ए-असर बी जे पी बोडोलैंड टरीटोरील अटानमस डिस्ट्रिक्ट के
मौजूदा बोहरान को हिन्दू। मुस्लिम तसादुम क़रार देते हुए खुले अंदाज़ में आसाम की अवाम को मज़हबी बुनियादों पर मुनक़सिम करने की कोशिश कररही है।
चीफ़ मिनिस्टर आसाम नसली मसला का देरपा हल निकालने के लिए ठोस इक़दाम उठाने में नाकाम साबित होकर बी जे पी की सयासी हिक्मत-ए-अमली पर बौखलाहट का शिकार होगए हैं और बी जे पी का राग अलापने के लिए वो भी मुस्लमानों की इज़्ज़त नफ़स से खेलने की कोशिश करने में लगे हुए हैं जो कि मुस्लमानों के लिए नाक़ाबिल-ए-बर्दाश्त है। चीफ़ मिनिस्टर आसाम आइन्दा अपनी ज़बान पर लगादें, बसूरत-ए-दीगर जाहिल, नाअहल और कमज़ोर पन की हरकत उन्ही के लिए नुक़्सानदेह साबित होसकती है।

TOPPOPULARRECENT