चीफ़ मिनिस्टर झारखंड,हेलीकॉप्टर हादिसा में बाल बाल बच गए

चीफ़ मिनिस्टर झारखंड,हेलीकॉप्टर हादिसा में बाल बाल बच गए
* राडार की नाक़िस कारकर्दगी से 25 फुट बुलंदी से गिरने का हादिसा , अर्जुन मुंडा और शरीक-ए-हयात(पत्नी) ज़ख़मी

* राडार की नाक़िस कारकर्दगी से 25 फुट बुलंदी से गिरने का हादिसा , अर्जुन मुंडा और शरीक-ए-हयात(पत्नी) ज़ख़मी
झारखंड के चीफ़ मिनिस्टर अर्जुन मुंडा, उन की शरीक-ए-हयात(पत्नी) और दीगर चार अफ़राद आज एक हेलीकोप्टर हादिसा में करिश्माती तौर पर बच तो गए लेकिन ज़ख़मी होगए। इन का हेलीकोप्टर तकनीकी ख़राबी पैदा होजाने के सबब एयर‌पोर्ट पर उतरने
के बाद तबाह होगया।

इब्तेदाई तहक़ीक़ात से पता चला है कि राडार की नाक़िस कारकर्दगी के नतीजे में दो इंजन वाले हेलीकाप्टर को सरायकेला-खरसांवा जिले में लैंड करने में मुश्किल पेश आई। सरकारी ज़राए ने कहा कि 44 साला अर्जुन मुंडा को कंधों और कोहनियों पर शदीद ज़ख़म (बहुत ज्यादा चोटें) आए हैं जिन्हें अपोलो हॉस्पिटल के एन्टींसीव केर यूनिट में शरीक(दाखील) कर दिया गया है ताहम(लेकिन‌) उन की हालत मुस्तहकम(ठीक) है और ख़तरा से बाहर बताई गई है।

डाक्टरों ने कहा कि तमाम 6 अफ़राद अगरचे ज़ख़मी हुए हैं लेकिन उन की हालत तशवीशनाक नहीं(खतरे से बाहिर) है। वो तमाम होश में हैं और बातचीत कर रहे हैं। डायरेक्टर जनरल पुलिस जी एस रथ ने पी टी आई से कहा कि दोपहर 12:30 बजे हेलीकोप्टर हादिसा हुआ। बीरसा मुंडा एयर‌पोर्ट पर ये हेलीकोप्टर तबाह होकर 20 ता 25 फ़ीट की बुलंदी से गिर पड़ा।

डाक्टरों की टीम ने चीफ़ मिनिस्टर का मुआइना(चेक अप) किया है। शहरी हवा बाज़ी के रेगूलेटर इदारा डी जी सी ए ने इस हेलीकोप्टर हादिसा की तहक़ीक़ात का आग़ाज़(को शुरु) कर दिया है।

इब्तेदाई तहक़ीक़ात से पता चला कि ये हेलीकोप्टर लैंडिंग से क़ब्ल(पहले) उलट गया था और एक बाज़ू के बल गिर पड़ा था। डायरेक्टर जनरल शहरी हवा बाज़ी ए के भारत भूषण ने नई दिल्ली में पी टी आई से कहा कि हम ने अस्सिटंट डायऱेक्टर (एय‌र सेफ़्टी) सानीत कुमार को तहक़ीक़ाती अफ़्सर मुक़र्रर किया है।

ख़ुशगवार मौसम के दौरान(अछ्छे मौसम के बिच) अचानक पेश आए इस हेलीकोप्टर हादिसा ने एसे ही दीगर हादिसात की यादों को ताज़ा करदिया जिन में अरूणाचल प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर डोरजी खंडो, आंधरा प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर वाई एस राज शेखर रेड्डी और लोक सभा के स्पीकर जी एम सी बालाएवगी हलाक होगए थे।

मिस्टर रथ ने कहा कि इस हेलीकोप्टर के तमाम मुसाफ़िरों को फ़िलफ़ौर(तूरंत) दवाख़ाना मुंतक़िल कर दिया गया। एयर‌पोर्ट के एक सीनीयर ओहदेदार ने कहा कि चीफ़ मिनिस्टर और उन की शरीक-ए-हयात(पत्नी) मीरा के इलावा दो पायलेट‌, एक सेक्युरीटी ऑफीसर और बी जे पी के एक रुक्न असेंबली बारकू अनार गगराई दो इंजनों पर मुश्तमिल अगस्टा ए डब्ल्यू 109 हेलीकॉप्टर में सफ़र कर रहे थे जो इस हादिसा में तबाह होगया।

अपोलो हॉस्पिटल के पी डी सिन्हा ने कहा है कि फिल्हाल(अभी) इन (मिस्टर मुंडा) की हालत ख़तरे से बाहर और मुस्तहकम(ठीक‌) है लेकिन तमाम मूआयनो(चेक अप) के बाद ही उन की हालत की असल नौईयत(प्रकार) के बारे में इलम होगा(मालुम होगा)। चीफ़ मिनिस्टर मुंडा अपनी शरीक-ए-हयात(पत्नी) के साथ सरायकेला-खरसांवा जिले में एक बिजलीघर के इफ़्तिताह(उद्घाटन) के लिए रवाना होरहे थे लेकिन तकनीकी ख़राबी के सबब उन का हेलीकोप्टर वहां लैंडिंग नहीं कर सका था चुनांचे दुबारा एयर‌पोर्ट वापिस होगए थे।
पंद्रह दिन क़ब्ल(पहले) भी मिस्टर बंडा के हेलीकोप्टर को जमशेदपुर में ख़राब मौसम के सबब इमरजंसी लैंडिंग करना पड़ा था।

Top Stories