Saturday , December 16 2017

चीफ़ मिनिस्टर से अदम मुलाक़ात पर मर्कज़ी वज़ीर सूजना चौधरी को मायूसी

मर्कज़ी वज़ीर सूजना चौधरी को उस वक़्त मायूसी का सामना करना पड़ा जब वो तेलंगाना सेक्रेट्रियट में चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ से मुलाक़ात के लिए पहुंचे।

मर्कज़ी वज़ीर सूजना चौधरी को उस वक़्त मायूसी का सामना करना पड़ा जब वो तेलंगाना सेक्रेट्रियट में चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ से मुलाक़ात के लिए पहुंचे।

बताया जाता हैके सूजना चौधरी चीफ़ मिनिस्टर से मुलाक़ात का वक़्त लेने के बाद ही सेक्रेट्रियट पहुंचे लेकिन वहां चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ मौजूद नहीं थे।

सूजना चौधरी सीधे चीफ़ मिनिस्टर के बलॉक में दाख़िल हुए और चीफ़ मिनिस्टर की अदमे मौजूदगी की इत्तेला पाकर उन्होंने चीफ़ सेक्रेटरी राजीव शर्मा से मुलाक़ात की और वहां से वापिस होगए। बताया जाता हैके ओहदेदारों ने बताया कि चीफ़ मिनिस्टर की तबीयत नासाज़ है जिस के सबब वो सेक्रेट्रियट नहीं आए।

सूजना चौधरी ने कहा कि वो बाद में किसी वक़्त चीफ़ मिनिस्टर से मुलाक़ात करलेंगे। उन्होंने इस बात पर नाराज़गी का इज़हार किया कि चीफ़ मिनिस्टर की सेक्रेट्रियट अदम आमद के बारे में ओहदेदारों ने उन्हें बरवक़्त इत्तेला नहीं दी। वाज़िह रहे के सूजना चौधरी का ताल्लुक़ तेलुगु देशम से है और वो सीमा आंध्र से ताल्लुक़ रखते हैं। तेलंगाना तहरीक के दौरान उन्होंने रियासत की तक़सीम के ख़िलाफ़ मुहिम में अहम रोल अदा किया था। बताया जाता हैके तेलुगु देशम से ताल्लुक़ और मुख़ालिफ़ तेलंगाना मौक़िफ़ को देखते हुए चन्द्रशेखर राव‌ ने उन से मुलाक़ात से गुरेज़ किया।

TOPPOPULARRECENT