Friday , December 15 2017

चुनाव से पहले केरल में राजनीतिक हिंसा में इज़ाफ़ा

युवा कांग्रेस वर्कर की हत्या। तिरुवनंतपुरम में भाजपा। सीपीएम टकराई। 30 लोग घायल

तिरुवनंतपुरम: चुनाव से पहले राज्य केरल में राजनीतिक हिंसा में इज़ाफ़ा हो गया है जब अलापुज़हा में आज सुबह की तों में स्थान पर यूथ कांग्रेस के एक 28 साला वर्कर की हत्या कर दी गई। कहा जा रहा है कि डी वाई एफ़ आई के वर्कर्स ने ये क़तल किया है| जबकि बीजेपी और सीपीऐम वर्करस‌ का तिरुवनंतपुरम में टकराव हुआ जिसमें कम से कम 30 लोग मारे गए हैं।

पुलिस ने कहा कि युवा कांग्रेस वर्कर सुनील कुमार को देर रात 2 बजे डी वाई एफ़ आई के वर्कर को नींद से उठाया और जब वह घर से बाहर दौड़ने लगा तो उस पर हमला किया गया। डीवाईएफ़आई सीपीऐम की युवा संगठन है। कहा गया है कि इस हमले में सुनील कुमार के हाथ और पैर में गंभीर घाव आए थे जो बाद में अपने घावों से जांबर ना होसका।

कहा जा रहा है कि सुनील कुमार पहले डीवाईएफ़आई से जुड़े था। पुलिस के मुताबिक इस सिलसिले में डीवाईएफ़आई के चार वर्करस‌ को गिरफ्तार कर लिया गया है और लोगों की तलाश जारी है। कल रात भाजपा और सीपीएम वर्कर्स का तिरुवनंतपुरम में कटाई कोनम में टकराव हुआ।

इस मुठभेड़ में कम से कम 30 लोग घायल हो गए। कहा जा रहा है कि एक की हालत गंभीर है। लडाई में भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष वी मुरलीधर शामिल हैं। सीपीएम वर्कर्स पर सनगबारी का आरोप लगाया गया है। आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए भाजपा ने आज जिले में हड़ताल का ऐलान किया था।

सीपीएम ने भी कटाई कोनम में आज हड़ताल का ऐलान किया था। हड़ताल से गाडियों को बंद कर दिया गया था ताकि परीक्षा में भाग लेने वाले छात्रों को समस्या पेश न आएं। राज्य में 16 मार्च को विधानसभा चुनाव होने वाले हैं और इससे पहले राजनीतिक दलों के वर्करस‌ में टकरा व के विभिन्न जिलों से सूचनाएं मिल रही हैं। हाल ही में एक आरएसएस वर्कर कि भी हत्या कर दी गई।

TOPPOPULARRECENT