Monday , December 11 2017

चौथे फेज में भाजपा की इज्ज़त दांव पर

पटना : बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब के चौथे फेज़ के लिए तशहीर कल शाम ख़त्म हो गया। सूबे के सात जिलों के 55 एसेम्बली हल्कों में वोटर इतवार एक नवंबर को वोट डालेंगे। इस फेज़ में जिन इलाकों में इंतिखाब होगा उनमें चंपारण से लेकर एक जमाने में बिहार की सियासी दारुल हुकूमत कहा जाने वाला मुज़फ़्फ़रपुर शामिल हैं। इस फेज़ में करीब डेढ़ करोड़ वोटर कुल 776 उम्मीदवारों में से अपने एमएलए का सलेक्शन करेंगे। पाँच मरहले में हो रहे बिहार एसेम्बली इंतिख़ाब के तीन मरहलों में आधे से ज़्यादा 131 सीटों पर इंतिख़ाब पूरा हो चुका है। अभी दो फेज़ में कुल 112 सीटों पर इंतिख़ाब बाकी है। इस फेज़ में भाजपा की इज्ज़त दांव पर है। भाजपा के 42 उम्मीदवार मैदान में हैं, जबकि अज़ीम इत्तिहाद में राजद 26 और जदयू 21 सीटों पर ताल ठोक रही है। वजीरे आजम नरेंद्र मोदी ने लालू यादव के अबाई जिले गोपालगंज और मुजफ्फरपुर में इंतिख़ाब इजलास को खिताब किया। उन्होंने इसमें रिज़र्वेशन, बिहारी-बाहरी, बदउनवान और घपलों का ज़िक्र करते हुए अपने अंदाज में अजीम इत्तिहाद पर निशाना साधा।मुखालिफत की तरफ से खुद को बाहरी बताए जाने के मुद्दे पर मुजफ्फरपुर की रैली में नरेंद्र मोदी ने कहा, “क्या मैं बाहरी हूं? पाकिस्तान, बांग्लादेश या श्रीलंका का वजीरे आजम हूं? मैं बिहार का वजीरे आजम नहीं हूं क्या?”
उन्होंने आगे कहा, “ये लोग मुझे बाहरी कहते हैं। क्या सोनिया गांधी भी बाहरी हैं?” वहीं अज़ीम इत्तिहाद की तरफ से कमान लालू यादव और नीतीश कुमार ने संभाली। इन दोनों ने जुमा को आधा दर्जन से ज़्यादा इजलास कीं। लालू ने पटना में कहा कि भाजपा सदर अमित शाह ने अजीम इत्तिहाद की जीत पर पाकिस्तान में पटाखे फूटने की बात कहकर बिहार का बेइज्ज़त किया है। राजद की तरफ से आज इस बयान के खिलाफ पटना में एलेक्शन कमीशन में शिकायत भी दर्ज कराई गई।

वहीं नीतीश कुमार ने मधुबनी की बेनीपट्टी की रैली में नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, “नरेंद्र मोदी एक पार्टी नहीं पूरे मुल्क के वजीरे आजम हैं. मेरे भी वजीरे आजम हैं.” लेकिन साथ ही उन्होंने जवाब दिया, “वजीरे आजम बनने के बाद नरेंद्र मोदी को 14 महीनों बाद बिहार की याद तब आई जब बिहार का इंतिख़ाब आया.” नीतीश ने यह कहते हुए चुटकी ली कि वजीरे आजम या तो बाइरून मुल्क की सफर करते हैं या इंतिख़ाब सफर चौथे फेज़ के इंतिख़ाब पर रिज़र्वेशन से मुतल्लिक़ और पाकिस्तान में पटाखे फूटने जैसे बयानों का कितना असर पड़ेगा?
इस फेज़ में जिन 55 सीटों पर इंतिख़ाब होगा उनमें से अभी 28 सीटें भाजपा, 23 सीटें जदयू और केवल एक सीट राजद के पास है। अहम उम्मीदवारों में बिहार हुकूमत के वज़ीर रमई राम और रंजू गीता, राजद के रियासती सदर रामचंद्र पूर्वे और भाजपा की क़ौमी नायब सदर रेणु देवी शामिल हैं।
इस फेज़ का बड़ा इलाका गन्ना पैदावार के लिए मशहूर है। लेकिन इलाके के वोटरों ने किस के लिए इंतिख़ाब रिजल्ट को मीठा बनाया यह तो आठ नवंबर को ही पता चल पाएगा।

TOPPOPULARRECENT