Sunday , December 17 2017

चौहान ने अपनी इमेज शफ़्फ़ाफ़ रखी : बी जे पी

रियासती बी जे पी ने एक ऐसे मौके पर महाराष्ट्रा के वज़ीर-ए-आला पृथ्वी राज चौहान को तन्क़ीद का निशाना बनाया जब उनके बहैसुयत वज़ीर-ए-आला तीन साल मुकम्मल होरहे हैं।

रियासती बी जे पी ने एक ऐसे मौके पर महाराष्ट्रा के वज़ीर-ए-आला पृथ्वी राज चौहान को तन्क़ीद का निशाना बनाया जब उनके बहैसुयत वज़ीर-ए-आला तीन साल मुकम्मल होरहे हैं।

बी जे पी का ख्याल है कि चौहान ने ख़ुद अपनी इमेज तो साफ़-ओ-शफ़्फ़ाफ़ रखी है लेकिन बदउनवानियों में मुलव्वस दीगर क़ाइदीन की पुश्तपनाही कररहे हैं। रियासती बी जे पी सरबराह देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि चौहान बहुत ही होशयार हैं। अपने आप को तो पार्सा बताते हैं लेकिन आबपाशी और कोआप्रेटीव सेक्टर घोटाला में मुलव्वस अपने काबीनी साथियों और दीगर को बचाने की फ़िक्र में लगे हुए हैं।

उन्होंने आदर्श सुसाइटी की तहक़ीक़ाती रिपोर्ट अंदरून छः माह पेश ना करके रियासत के अवाम को धोका दिया है। फडणवीस ने ख्याल‌ किया कि वज़ीर-ए-आला ने अपोज़ीशन से वादा किया था कि तहक़ीक़ाती रिपोर्ट को एसेंबली में पेश किया जाएगा। चौहान ने जब अपना वादा वफ़ा नहीं किया तो बी जे पी मफ़ाद-ए-आम्मा की एक दर्ख़ास्त के साथ बॉम्बे हाइकोर्ट से रुजू हुई जिस में वज़ीर-ए-आला और चीफ़ सेक्रेटरी को ताख़ीर केलिए मौरिद इल्ज़ाम ठहराया गया।

वज़ीर-ए-आला अपनी हलीफ़ जमात एन सी पी को मुतमइन करने में ज़्यादा तवज्जो दे रहे हैं। फडणवीस ने मज़ीद कहा कि वज़ीर-ए-आला चौहान ने अपने दीगर दो वादे भी पूरे नहीं किए। एक तो इंदू मिल्स‌ की अराज़ी पर डाक्टर अंबेडकर की यादगार क़ायम नहीं की गई और दूसरे ये कि मुंबई के समुंद्री साहिल पर शेवा जी महाराज का मुजस्समा भी शुरु नहीं किया गया।

ट्रांस हारबरी लाईन प्रोजेक्ट में भी कोई पेशरफ़त नहीं हुई। वज़ीर-ए-दाख़िला आर आर पाटिल से इख़तिलाफ़ात की वजह से वज़ीर-ए-आला ने आई पी एस आफ़िसरान की तक़र्रुरी से मुताल्लिक़ फाइलों पर भी दस्तख़त नहीं किए हैं। फडणवीस ने इझार‌ किया।

TOPPOPULARRECENT