Wednesday , December 13 2017

छत्तीसगढ़ में छिपे हैं दो इनामी दहशतगर्द !

बोध गया और पटना धमाके में शामिल पांच इनामी दहशतगर्दों में से दो के छत्तीसगढ़ में छिपे होने की खदसा है। जांच एजेंसियों को एक दहशतगर्द का मोबाइल लोकेशन छत्तीसगढ़ में मिला है।

बोध गया और पटना धमाके में शामिल पांच इनामी दहशतगर्दों में से दो के छत्तीसगढ़ में छिपे होने की खदसा है। जांच एजेंसियों को एक दहशतगर्द का मोबाइल लोकेशन छत्तीसगढ़ में मिला है।

उसने हाल ही में एक मोबाइल नंबर से अपने अहले खाना को कॉल किया था। खदसा जतायी जा रही है कि उसके साथ एक दीगर दहशतगर्द भी है। जांच अफसरों के मुताबिक इसकी इत्तिला नेशनल इंवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआइए) को दी गयी। इत्तिला मिलने के बाद एनआइए की एक दीगर टीम छत्तीसगढ़ पहुंच चुकी है। वहां मुक़ामी पुलिस के मदद से मुखतलिफ़ मुकामात पर छापामारी करने की तैयारी कर रही है। एनआइए की एक टीम पहले से ही छत्तीसगढ़ में है।

छत्तीसगढ़ से हो चुकी है गिरफ्तारी

छत्तीसगढ़ पुलिस ने कुछ दिन पहले पटना सीरियल धमाके से जुड़े दहशतगर्द उमेर समेत दीगर मुश्तबा को गिरफ्तार किया था। उमेर ने कई अहम जानकारी पुलिस को दी थी। छत्तीसगढ़ पुलिस ने इसकी जानकारी बिहार और झारखंड पुलिस के अलावा एनआइए को दी थी। इसके बाद जांच करने एनआइए के अफसर छत्तीसगढ़ पहुंचे थे। अफसर गिरफ्तार दहशतगर्द और इंडियन मुजाहिदीन के दूसरे दहशतगर्द के दरमियान रिश्ते की जांच कर रहे हैं। अब एक दहशतगर्द के मोबाइल लोकेशन की इत्तिला मिलने के बाद एनआइए की दूसरी टीम भी वहां पहुंच गयी है।

किनकी है तलाश

ओरमांझी के चकला गांव के रहने वाले पांच लाख का इनामी मुजिबुल उर्फ मोजिबुल्लाह
रांची के धुर्वा वाक़ेय सीठियो गांव का रहने वाला पांच लाख का इनामी तौफिक अंसारी और नुमान अंसारी
बिहार के औरंगाबाद वाक़ेय खरियामा गांव का रहने वाला 10 लाख का इनामी हैदर अली (रांची के डोरंडा वाक़ेय लाइन मुहल्ला में भी रहता था)
समस्तीपुर के मनियारपुर गांव का रहने वाला 10 लाख का इनामी तहसीन अख्तर

TOPPOPULARRECENT