Saturday , May 26 2018

छत्तीसगढ़ में मौइस्टों के ठिकानो पर पुलिस का धावा

राजनंद गाँव: छत्तीसगढ़ के ज़िला राज नंद गाँव‌ में घने जंगलात से पुलिस‌ ने 3 जदीद तीन राकेट लॉंचर और 2 डेटोनेटर्स ज़ब्त कर के मौइस्ट्टों के हथियारों के एक दफ़ीना ( ज़ेरे ज़मीन पोशीदा हथियार ) को बेनकाब करदिया। पुलिस सुप्रिटेडेंट‌ मिस्टर प

राजनंद गाँव: छत्तीसगढ़ के ज़िला राज नंद गाँव‌ में घने जंगलात से पुलिस‌ ने 3 जदीद तीन राकेट लॉंचर और 2 डेटोनेटर्स ज़ब्त कर के मौइस्ट्टों के हथियारों के एक दफ़ीना ( ज़ेरे ज़मीन पोशीदा हथियार ) को बेनकाब करदिया। पुलिस सुप्रिटेडेंट‌ मिस्टर पी सुंदर राज ने बताया कि इंडो । तिब्बत बॉर्डर पुलिस और मुक़ामी पुलिस की मुशतर्का टीम मुदुन वाड़ा पुलिस इस्टेशन के हुदूद में वाक़्य घने जंगल से राकेट लॉंचरस बरामद कर लिए।

उन्होंने बताया कि बावसूक़ ज़राए से ये इत्तेला मिलने पर कि घने जंगल में जदीद राकेट लॉंचरस और सुरंगें एक गढ़े में पोशीदा रखी गई हैं । सेक्योरिटी फ़ोर्स की मुशतर्का टीम ने इस इलाक़े में तलाशी मुहिम के दौरान इस मुक़ाम का पता चला लिया जहां पर ये हथियार छुपाए गए।

ये मुक़ाम रियासती दार-उल-हकूमत से 200 किलोमीटर दूर वाक़्य है। इंसिदाद नक्सलाइटस कार्रवाई से वाबस्ता एक पुलिस ओहदेदार ने बताया कि साल 2005 में ज़िला नारायण पुर में धोराई पुलिस इस्टेशन के हुदूद से भारी मिक़दार में राकेटस और लॉंचरस ज़ब्त किये गए थे और एक अर्सा के बाद इस इलाक़ा में अब हथियार ज़ब्त किये गए हैं।

उन्होंने बताया कि एसा मालूम होता है कि नक्सलाइटस ने इंतेहाई ताक़तवर रेकेटस तैयार कर लिए हैं जिस के ज़रिए ज़बरदस्त तबाही की जा सकती है।

TOPPOPULARRECENT