Friday , December 15 2017

छह महीने में दुसरी बार दिल्ली मेट्रो का किराया बढ़ाने से स्वराज इंडिया ने किया विरोध प्रदर्शन

दिल्ली मेट्रो का छे माह के भीतर दोबारा किराया बढ़ाए जाने को लेकर शुक्रवार को दिल्ली में ‘झूठा ड्रामा बंद करो, बढ़ा किराया वापस लो।’ इस मांग के साथ स्वराज इंडिया के कार्यकर्ताओं ने विभिन्न मेट्रो स्टेशनों पर जोरदार प्रदर्शन किया।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अनुपम और उपाध्यक्ष वीणा आनंद ने कीर्ति नगर मेट्रो स्टेशन पर प्रदर्शन में हिस्सा लिया। प्रदर्शन के दौरान स्वराज इंडिया टीम की कई ऐसे सवारियों से बातचीत की जिस मे स्टूडेंट्स, महिलाएं भी शामिल थीं जो रोजाना मेट्रो में सफर करते रहे हैं। लोगों के बात से यह बिल्कुल स्पष्ट पता चला कि दिल्ली के आम लोग, महिलाएं और छात्र मात्र छह महीने के अंदर दूसरी बार किराया बढ़ाने से नाखुश हैं।

दिल्लीवालों का मानना है कि किराये में नाजायज वृद्धि का महंगाई के इस दौर में उनकी जेब पर भारी असर पड़ेगा। अधिकतर महिलाओं का कहना था कि मेट्रो उनके लिए दिल्ली में एकमात्र सुरक्षित सार्वजनिक परिवहन है लेकिन इस कदर किराया बढ़ने से उन्हें मजबूरन इसमें सफर कम करना पड़ सकता है

स्वराज के सदस्यों ने दिल्ली के अलग अलग मैट्रो स्टेशन  कीर्ति नगर, सीलमपुर, साकेत, न्यू अशोक नगर, पीरागढ़ी, जनकपुरी वेस्ट  पर बढ़े हुए किराये के विरोध में जागरूकता अभियान चलाया। पार्टी ने लोगों को बताया कि क्यों छह महीने के अंदर दोबारा किराया बढ़ाना जायज नहीं है। साथ ही आम आदमी पार्टी की सरकार द्वारा खुद किराया बढ़ाने के बाद अब किये जा रहे विरोध के नाटक को भी स्वराज इंडिया ने उजागर किया।

स्वराज इंडिया के प्रदर्शनों का नेतृत्व कर रहे प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने मांग किया कि मेट्रो के बढ़े हुए किराये तुरंत वापस लिए जाएं।
अनुपम ने सवाल किया कि अगर आप और भाजपा दोनों ही किराये का विरोध कर रही थी तो मेट्रो का किराया आखिर बढ़ाया किसने? ये तो दिल्लीवालों को बड़ी बेशर्मी से धोखा दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी किराया वृद्धि के खिलाफ ‘सत्याग्रह’ कर रही है लेकिन उनके आग्रह में तो ‘सत्य’ ही गायब है।

अनुपम ने कहा कि पिछले कुछ महीनों में दिल्ली की सड़कों पर लग रही भारी जाम और वायु प्रदूषण से परेशान दिल्लीवालों के हित में है कि बढ़ा किराया वापस हो। यदि इसके बाद भी किराये में वृद्धि वापस नहीं ली जाती है तो स्वराज इंडिया इस गंभीर मुद्दे को आंदोलन मे तब्दील कर देगी याद रहे कि  10 मई को किराए के विर्धी के बाद दिल्ली मेट्रो की रायटरशीप मे ढेर लाख तक की कमी आई है.

TOPPOPULARRECENT