Saturday , November 18 2017
Home / India / छात्रा ने नहीं मैंने खुद काटा अपना प्राइवेट पार्ट, किसी काम का नहीं था-केरल के स्वामी का दावा

छात्रा ने नहीं मैंने खुद काटा अपना प्राइवेट पार्ट, किसी काम का नहीं था-केरल के स्वामी का दावा


केरल में लॉ छात्रा द्वारा स्वामी का प्राइवेट पार्ट काटे जाने का मामला सामने आया है। लड़की ने स्वामी पर आरोप लगाया कि वह लगातार 8 साल से उसका रेप कर रहा था। लेकिन अब इस मामले में नया मोड़ आ गया है । 54 साल के स्वामी ने अब दावा किया है कि लड़की ने नहीं बल्कि उसने खुद अपना प्राइवेट पार्ट काटा है क्योंकि वह उसके लिए ‘गैर जरुरी’ था।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस को दिए अपने बयान में आरोपी स्वामी ने दावा किया कि उसने अपनी मर्जी से अपना प्राइवेट पार्ट काटा, क्योंकि वह उसके लिए उपयोगी नहीं था। रेप करने के मामले में सन्यासी के खिलाफ पॉस्को एक्ट में केस दर्ज किया गया है।
पुलिस के मुताबिक स्वामी पदमा छत्तामबी स्वामी आश्रम का रहने वाला है । वो 15 साल पहले आध्यात्मिक गुरु बन गया था । इस स्वामी की पहचान कोलम स्थित पनमाना आश्रम के स्वामी गंगेशानंद के रूप में हुई है। पुलिस में दिए गए छात्रा के बयान के अनुसार स्वामी ने पहली बार छात्रा के साथ उसके ही घर में बलात्कार किया था जब वह 16 साल की थी।

पुलिस का कहना है कि उसकी मां छात्रा के साथ हुई घटना के बारे में जानती थी लेकिन फिर भी उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं कराई। छात्रा के पिता को लक्वा मारा हुआ है और उन्हीं के इलाज के दौरान आश्रम में उनकी मुलाकात आरोपी स्वामी से हुई थी। इसके बाद वह महिला के घर आने जाने लगा। बाद में उसने महिला की बेटी का शारीरिक शोषण शुरू कर दिया।

केरल ने मुख्यमंत्री पी विजयन ने छात्रा की तारीफ़ की है, उन्होंने कहाकि छात्रा बहादुर लड़की है । छात्रा ने अपने दोषी को जो सजा दी वह बहुत ही सही है। इसके बाद केरल महिला आयोग की सदस्य प्रमीला देवी ने कहा कि हमें छात्रा पर गर्व है। महिला ने साबित कर दिया कि धर्म की आड़ में कोई भी व्यक्ति किसी महिला के साथ ऐसा कृत्य नहीं कर सकता है।

TOPPOPULARRECENT