Thursday , April 19 2018

छात्रों का संघर्ष देश भर में शिक्षा और रोज़गार में भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ रहे लोगों को मजबूती देगा: योगेन्द्र यादव

दिल्ली में स्टाफ सलेक्शन कमीशन (SSC) की परीक्षा में धांधली की जांच की मांग कर रहे हैं युवाओं और विद्यार्थियों के बीच आज स्वराज इंडिया की ओर से समर्थन देने राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव पहुंचे। धरने पर बैठे युवाओं ने उनका स्वागत करते हुए कहा कि पिछले 3 दिन से वह दिन-रात सड़क पर बैठे हैं लेकिन सरकार या विपक्ष की ओर से कोई नेता उनकी बात सुनने नहीं आया। छात्रों ने इस मुद्दे पर शुरू से ही युवाओं के साथ खड़े होने के लिए स्वराज इंडिया का धन्यवाद किया।

विरोध प्रदर्शन कर रहे युवाओं के बीच अपने संक्षिप्त संबोधन में योगेंद्र यादव ने शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक तरीके से इस आंदोलन को चलाने के लिए युवाओं को बधाई देते हुए स्वराज इंडिया के पूरे समर्थन को दोहराया। उन्होंने कहा कि SSC की परीक्षा के बारे में अब तक जितनी जानकारियां सामने आई हैं उससे एक भारी घपलेबाजी का अंदेशा होता है, और ऐसे में छात्रों के सीबीआई (CBI) की स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच की मांग करना बिल्कुल न्यूनतम और सर्वथा उचित मांग है।

उन्होंने इतनी सी न्यूनतम मांग को मनवाने के लिए युवाओं को सड़क पर बैठने की जरूरत पर हैरानी जतायी। सरकार द्वारा और अधिक प्रमाण की मांग को हास्यास्पद बताते हुए योगेन्द्र यादव ने कहा कि इससे अधिक प्रमाण तो जांच शुरू होने के बाद ही आ सकते हैं। स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच के जो भी परिणाम हों उससे नौकरियों में बहाली की व्यवस्था की साख और विश्वसनीयता बढ़ेगी। इसलिए सरकार को बिना किसी देरी के इस मांग को स्वीकार कर लेना चाहिए।

उन्होंने उम्मीद जाहिर की कि SSC के इस घोटाले के विरुद्ध शुरू हुआ यह आंदोलन पूरे देश में युवाओं के एक व्यापक आंदोलन का स्वरूप लेगा जो देशभर के राज्यों की नौकरियों में हो रहे घोटाले का पर्दाफाश करेगा और रोजगार तथा शिक्षा के सवाल पर युवाओं की मांगों को देश के सामने रखेगा। छात्रों का कहना है कि परीक्षा में हुई धांधली और पेपर लीक का मुख्य कारण चयन आयोग में व्याप्त भ्रष्टाचार है।

ज्ञात हो कि प्रदर्शन के दूसरे दिन बुधवार को स्वराज इंडिया दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अनुपम ने भी छात्रों को संबोधित किया था। युवाओं के भविष्य के प्रति सरकार को पूरी तरह असंवेदनशील बताते हुए अनुपम ने कहा था कि छात्रों के सामूहिक भविष्य से ही देश का भविष्य उज्ज्वल बनेगा। इसलिए ये लड़ाई देश के भविष्य के लिए है और इस संघर्ष में ऊर्जा लगाने वाले युवा ही असल राष्ट्रवादी हैं।

स्वराज इंडिया छात्रों के स्वतःस्फूर्त आंदोलन को अपना पूरा समर्थन देता है। और न्याय मिलने तक उनके साथ खड़ा रहने को प्रतिबद्ध है, ताकि देश भर में सरकारी नौकरियों की बहाली में धड़ल्ले से हो रहे फ्रॉड को समाप्त किया जा सके।

TOPPOPULARRECENT