जंगलात कि हिफाज़त केलिए इंटरनेशनल यूनीयन की रिपोर्ट

जंगलात कि हिफाज़त  केलिए इंटरनेशनल यूनीयन की रिपोर्ट
क़ुदरती माहौल के तहफ़्फ़ुज़(हिफाज़त) केलिए ख़िदमात अंजाम देने वाली बैन-उल-अक़वामी यूनीयन की रिपोर्ट जोके बायो डाईओरसटी कान्फ़्रैंस के दौरान जारी की गई हैं, बताया गया के क़ुदरती माहौल के तहफ़्फ़ुज़ (हिफाज़त)केलिए ज़रूरी है के जंगलात को

क़ुदरती माहौल के तहफ़्फ़ुज़(हिफाज़त) केलिए ख़िदमात अंजाम देने वाली बैन-उल-अक़वामी यूनीयन की रिपोर्ट जोके बायो डाईओरसटी कान्फ़्रैंस के दौरान जारी की गई हैं, बताया गया के क़ुदरती माहौल के तहफ़्फ़ुज़ (हिफाज़त)केलिए ज़रूरी है के जंगलात को बंदरों, लंगूरों, गोरीलाव‌ से महफ़ूज़ रखा जाय क्योंके उन से जंगलात और क़ुदरती माहौल में कमी पेश आरही है।

Top Stories