Wednesday , December 13 2017

जंगों का दौर ख़त्म हो चुका : गिलानी

जंग का दौर ख़त्म हो चुका है और पाकिस्तान अपने तमाम मसाएल बिशमोल तनाज़ा कश्मीर और दहश्तगर्दी की हिंदूस्तान के साथ मुज़ाकरात के ज़रीया यकसूई के लिए तैयार है ।वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने पाकिस्तान की तरक़्क़ी में एन जी औज़

जंग का दौर ख़त्म हो चुका है और पाकिस्तान अपने तमाम मसाएल बिशमोल तनाज़ा कश्मीर और दहश्तगर्दी की हिंदूस्तान के साथ मुज़ाकरात के ज़रीया यकसूई के लिए तैयार है ।वज़ीर-ए-आज़म पाकिस्तान यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने पाकिस्तान की तरक़्क़ी में एन जी औज़ के रोल पर कान्फ्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि जंगों का दौर ख़तम हो चुका है ।

उन्होंने बताया कि हम हिंदूस्तान के साथ मिल बैठ कर तमाम मसाएल बिशमोल कश्मीर सरक्रीक सियाचिन पानी या दहश्तगर्दी जैसे तनाज़आत की यकसूई के ख़ाहां हैं। उन्होंने कहा कि तमाम मसाएल को ताक़त के ज़रीया हल करने की कोशिश की बजाय हुकूमत ने पेशरफ़त और मज़ाकरत की पालिसी इख्तेयार की है ।

वज़ीर-ए-आज़म मनमोहन सिंह की जानिब दोस्ती का हाथ बढ़ाया गया है। उन्होंने कहा कि अवाम सियाचिन से फ़ौज की दसतबरदारी के ख़ाहां हैं बिलख़सूस बर्फ़ानी तोदा गिरने से 138 पाकिस्तानी फ़ौजीयों के ज़िंदा दफ़न हो जाने के वाक़्या के बाद ये मुतालिबा शिद्दत इख्तेयार कर गया है ।

उन्होंने कहा कि ईस्लामाबाद तमाम अहम मसाएल पर नई दिल्ली के साथ बातचीत के लिए तैयार है । उन्होंने ये दलील पेश की कि दहश्तगर्दी और इंतेहापसंदी की बुनियादी वजूहात नाख़्वान्दगी और ग़ुर्बत हैं। हिंदूस्तान और पाकिस्तान ने 2008 मुंबई दहश्तगर्द हमलों के बाद दो साल के वक़्फ़ा के बाद मुज़ाकरात का सिलसिला दुबारा शुरू किया है ।

मुंबई धमाकों के लिए लश्कर-ए-तयबा को मौरिद इल्ज़ाम क़रार दिया जा रहा है । मुज़ाकरात शुरू होने के बाद दोनों ममालिक ने बाहमी रवाबित को बेहतर बनाने के लिए कई इक़दामात किए हैं बिलख़सूस तिजारती शोबा में नुमायां पेशरफ़्त की है ।

TOPPOPULARRECENT