जंग छिड़ेगी तो मैं भी बॉर्डर पर लड़ने जाऊंगा: अन्ना हजारे

जंग छिड़ेगी तो मैं भी बॉर्डर पर लड़ने जाऊंगा: अन्ना हजारे

मुंबई: खुद पर बन रही फिल्म से जुड़े सिलसिले में मुम्बई पहुंचे सोशल एक्टिविस्ट अन्ना हजारे ने उरी हमले पर बात करते हुए कहा कि वह कश्मीर और उरी में रह चुके हैं। उरी में हमले के बारे में सुनना बहुत खौफनाक था। उरी हमले के बाद पाकिस्तान के खिलाफ भारत सरकार की प्रतिक्रिया बिलकुल सही है। अगर पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता तो जंग करनी ही पड़ेगी। अगर जंग लगती है तो वे भी जंग लड़ने बॉर्डर पर जाना चाहते हैं।
मोदी सरकार के अच्छे दिन के नारे के बारे में पूछे जाने पर अन्ना ने जवाब देने पर टाल-मटोल करते हुए कहा कि इस बारे में आप मुझसे अच्छा जानते हैं कि अच्छे दिन आए या नहीं। एमएनएस के पाकिस्तानी कलाकारों को वापिस पाकिस्तान जाने के फरमान पर आना का कहना है कि जंग और कला में अंतर होता है। हमें दोनों को अलग-अलग रखना चाहिए।

Top Stories