Thursday , December 14 2017

जंग में बिछड़े ख़ानदानों का दहाईयों बाद मिलाप

जुनूबी कोरिया के सैंकड़ों ख़ानदान शुमाली कोरिया में ख़ानदानों के मिलाप के एक ग़ैर मामूली प्रोग्राम के तहत उन अज़ीजो अका़रिब से मुलाक़ात कर रहे हैं जो जंग के दौरान उनसे बिछड़ने गए थे। ख़ानदानों का ये मिलाप दोनों ममालिक की सरहद पर कमगांग के सयाहती मुक़ाम पर जारी रहेगा।

सन 1953 की जंग के बाद से दोनों जानिब मुक़ीम ये ख़ानदान बहुत कम ही एक दूसरे से मिल पाए थे। ख़ानदानों की बाहमी मुलाक़ातों का इनेक़ाद सन 1998 के बाद हुआ और इस का इन्हिसार दोनों ममालिक के ताल्लुक़ात पर होता था।

इस से क़ब्ल गुज़िश्ता साल फरवरी में इस किस्म की तक़रीब मुनाक़िद हुई थी। इस बार ये मुलाक़ातें रवां बरस अगस्त में दोनों जानिब मौजूद ख़ानदानों को मिलाने के मुआहिदे के बाद हो रही हैं।

TOPPOPULARRECENT