Saturday , December 16 2017

जगन केस : मुल्ज़िम वुज़रा के वीडीयोज़ पेश करने की हिदायत

हैदराबाद 26 जून: मुक़ामी अदालत ने आज सी बी आई को हिदायत दी के वो साबिक़ रियास्ती वुज़रा की तरफ से मीडीया को दिए गए बयानात की तमाम वीडीयो क्लिपिंग्स पेश करें।

हैदराबाद 26 जून: मुक़ामी अदालत ने आज सी बी आई को हिदायत दी के वो साबिक़ रियास्ती वुज़रा की तरफ से मीडीया को दिए गए बयानात की तमाम वीडीयो क्लिपिंग्स पेश करें।

वाई एस जगन मोहन रेड्डी के रिश्वत सतानी केस में मुल्ज़िम बताए गए वुज़रा और दुसरे क़ाइदीन ख़ुद के बेक़सूर होने का दावा कररहे हैं।

साबिक़ वज़ीर-ए-दाख़िला पी सबीता इंदिरा रेड्डी और साबिक़ वज़ीर इमारात-ओ-शवारा धर्मना प्रसाद राव‌ की तरफ से दाख़िल करदा दरख़ास्तों का हवाला देते हुए, जिस में इन दोनों ने इस केस में उन्हें अदालती तहवील में देने के लिए सी बी आई की दरख़ास्त की मुख़ालिफ़त की है।

सी बी आई की ख़ुसूसी अदालत ने मर्कज़ी तहक़ीक़ाती एजेंसी को हिदायत दी हैके वो 01 जुलाई या इस से पहले इन वुज़रा के मीडीया को दिए गए बयानात की तमाम क्लिपिंग्स पेश करे।

तहक़ीक़ाती ओहदेदार को हिदायत दी गई हैके 2 तेलुगू न्यूज़ चैनललों के ओहदेदारों से एक सर्टीफिकट भी हासिल करे ताके अदालत में सी बी आई की तरफ से दाख़िल की जाने वाली सी डेज़ के मवाद की तसदीक़ होसके।

क्यूंकि इन चैनललों ने ही ये बयानात जारी किए हैं। सबीता इंदिरा रेड्डी और धर्मना प्रसाद राव‌ ने जो बयानात दिए हैं उन्हें मुकम्मिल तौर पर बताया जाये।

अदालत ने इस केस की आइन्दा समाअत 7 जुलाई को मुक़र्रर की है। 7 जून को सी बी आई ने अदालत में दरख़ास्त दाख़िल करते हुए सबीता इंदिरा रेड्डी और धर्मना प्रसाद राव‌ को अदालती तहवील में देने की ख़ाहिश की थी।

ये दोनों जगन मोहन रेड्डी के ग़ैर मह्सूब असासा जात केस में मुल्ज़िम हैं। दोनों ने मीडीया में बयान देते हुए ख़ुद को बेक़सूर होने का दावा किया था।

उनके बयान से मज़ीद तहक़ीक़ात और गवाहों पर असरअंदाज़ होने का इमकान है। दोनों साबिक़ वुज़रा कड़पा के रुक्ने पार्लीमैंट जगन की कंपनीयों में मुबयना सरमाया कारी करने के सिलसिले में शमिल हैं। सी बी आई ने अदालत में दोनों साबिक़ वुज़रा के बयानात पर मुश्तमिल वीडीयो क्लिपिंग्स दाख़िल किए थे।

TOPPOPULARRECENT