Sunday , December 17 2017

जगन पर आज़ाद , किरण और अनय लिडरों की कडी आलोचनाएं

* कांग्रेस जमहूरी उसूलों की पाबंद , वाई एस आर की मौत के बाद जगन को चीफ मिनिस्टर ना बनाने का फैसला जम्हूरियत पर मबनी , कांग्रेस क़ाइदीन का चुनावी जलसों से ख़िताब

* कांग्रेस जमहूरी उसूलों की पाबंद , वाई एस आर की मौत के बाद जगन को चीफ मिनिस्टर ना बनाने का फैसला जम्हूरियत पर मबनी , कांग्रेस क़ाइदीन का चुनावी जलसों से ख़िताब
ओंगोल । वाई एस आर कांग्रेस पार्टी के सदर वाई एस जगन मोहन रेड्डी पर कांग्रेस ने अपनी आलोचना में तेजी पैदा करते हुए आज कहा कि जगन को उन के पिता के इंतिक़ाल के बावजूद चीफ मिनिस्टर नहीं बनाया गया क्योंकि कांग्रेस ने कभी कोई दबाव‌ क़बूल नहीं किया और हरवक़त जमहूरी उसूलों की पाबंदी की गई ।

केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री ग़ुलाम नबी आज़ाद ने जो आंधरा प्रदेश में कांग्रेस के तनज़ीमी कामों के इंचार्ज भी हैं कहा कि ये जम्हूरियत है यहां पर कोई ख़ानदानी हुक्मरानी नहीं है कि बादशाह की मौत के बाद इस के बेटे को जानशीन बना दिया जाए । मिस्टर आज़ाद आज ज़िला प्रकाशम के ओंगोल टाउन में उप चुनाव‌ के सिलसिले में चीफ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी , फ़िल्मी अदाकार से सियासतदां बनने वाले चिरंजीवी के इलावा केन्द्रीय मंत्री डी पोरनदेशोरी और पनाबका लक्ष्मी के साथ जल्सा से बातचित‌ कर रहे थे ।

मिस्टर आज़ाद ने लोक सभा के एक और असेंबली के 18 हलक़ों में 12 जून को होने वाले उप चुनाव‌ के लिए कल‌ तिरूपति से कांग्रेस की मुहिम कि बाज़ाबता तौर पर शुरूआत‌ कि । उन्हों ने कहा कि जगन ने अपने पिता राज शेखर रेड्डी की हेलीकोप्टर हादिसे के सबब होने वाली मौत के फ़ौरी बाद चीफ मिनिस्टर के ओहदा के लिए असेंबली सदस्यों से अपनी ताईद में दस्तख़ती मुहिम का एलान कर दिया हालाँकि स्वर्गीय‌ राज शेखर रेड्डी की आख़िरी रसूमात भी अदा नहीं की गई थी ।

जगन और उन के हामियों के इस इल्ज़ाम को रद‌ करते हुए कि उन्हें सीयासी इंतेक़ाम का निशाना बनाया जा रहा है । मिस्टर आज़ाद ने आज फिर कहा कि जगन की रिश्वतखोरी पर दुनिया अपनी आंखें बंद नहीं कर सकती थी । मिस्टर आज़ाद ने ओर‌ कहा कि अगर चीफ मिनिस्टर्स जेल को जा सकते हैं , केन्द्रीय मंत्री जेल जा सकते हैं , कांग्रेस पार्टी और अपोज़ीशन के अहम लिडर‌ जेल जा सकते हैं तो जगन ख़ुद के बारे में क्या सोचते हैं ? क्या वो जन्नत से आए हुए हैं? क्या वो (जगन ) चाहते हैं कि इन की ग़लतीयों पर सारी दुनिया आँख बंद किए बैठे रहें ?, कोई जांच टीम‌ उन्हें हाथ ना लगाए? क्या ये मुम्किन होगा?

केन्द्रीय स्वास्थ मंत्री ने ओर‌ कहा कि अगर जगन रातों रात करोड़ों रुपया लागत की बड़ी बड़ी फेक्टरीयां क़ायम करते हैं और महल जैसे बंगले बनाते हैं तो क्या सारी दुनिया अपनी आंखें बंद करले ?। आंधरा प्रदेश के चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने भी जगन को कडी आलोचना का निशाना बनाते हुए इस इल्ज़ाम की तरदीद की कि उन्हें सीयासी इंतिक़ाम का निशाना बनाया जा रहा है ।

मिस्टर किरण कुमार रेड्डी ने रीमार्क किया कि जगन मोहन रेड्डी का नाम जब तेल्गुदेशम के एक रुकन असेबली प्रीटाला रवी के क़तल केस से मुताल्लिक़ एफ आई आर में शामिल किया जाता है तो उस वक़्त के चीफ मिनिस्टर राज शेखर रेड्डी ने कहा था कि वो सी बी आई जांच‌ का हुक्म देंगे जो इस मुल्क का बहुत बडा जांच ब्युरो है ।

उन्हों ने ये भी कहा था कि अगर उन के बेटे ख़ाती पाए जाते हैं तो उन्हें सज़ा दी जाएगी । उन्हों ( जगन के ख़ानदान वालों) ने कभी भी सी बी आई के बारे में शक जाहिर‌ नहीं किये थे । लेकिन अब यही लोग कह रहे हैं कि कांग्रेस पार्टी उन्हें निशाना बना रही है ।

12 जून के उप चुनाव‌ के लिए जारी जंग में जैसे जैसे तेजी बढ़ती जा रही है । एसा महसूस होता है कि हुक्मराँ कांग्रेस पार्टी स्वर्गीय‌ राज शेखर रेड्डी की तरफ़ से शुरू कि गइं भलाइ स्कीमों का सहरा अपने सर लेने की कोशिश कर रही है । इस के साथ साथ वाई एस आर के दौर में होने वाले रिश्वत के इल्ज़ामात से ख़ुद को बेताल्लुक़ करने की कोशिश भी कर रही है ।

ग़ुलाम नबी आज़ाद ने तिरूपति , नैलोर , ओंगोल और दुसरे हलक़ों में पिछ्ले रोज़ से जारी अपनी मुहिम में आम जलसों से ख़िताब करते हुए दावा किया कि औरतों के ख़ुद इमदादी ग्रुपों को 25 पैसे सूद पर कर्ज़ों देने , किसानों को मुफ़्त बिजली देने , आरोग्य श्री स्कीम जैसी तमाम स्कीमें कांग्रेस की स्कीमें हैं और हम इन स्कीमों को आंधरा प्रदेश में कामयाबी के साथ चला रहे हैं ।

लेकिन‌ वाई एस आर के बेटे जगन मोहन रेड्डी के सख़्त चैलेंज का सामना करते हुए चीफ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी , सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बोतसा सत्य नारायणा और राज्य सभा के रुकन चिरंजीवी 2004 और 2009 के दरमियान रियासत में जाहिर होने वाले मुख़्तलिफ़ स्कैंडलस के लिए बज़ात-ए-ख़ुद स्वर्गीय‌ राज शेखर रेड्डी को मुजरीम‌ ठहराने से पस-ओ-पेश़ या शर्मिंदगी महसूस नहीं कर रहे हैं । इन लिडरों ने दावा किया कि जगन का अपने वालिद वाई एस आर पर एसा असर था कि स्वर्गीय‌ राज शेखर रेड्डी को कई मामलों पर दस्तख़त करने के लिए मजबूर होना पड़ा था जो अब स्कैंडल की शक्ल में जाहिर हुएं हैं।

इन आलोचनाओं और इल्ज़ामों के जवाब में जगन की क़ियादत वाली वाई एस आर कांग्रेस लिडर‌ , कांग्रेस क़ाइदीन से ये सवाल कर रहे हैं कि हकीकत में ये तमाम स्कीमात कांग्रेस की थी तो सारे मुल़्क खासकर‌ कांग्रेस कि सत्ता वाली दुसरी रियासतों में इस पर अमल क्यों नहीं कर रही है । अगर एसा होता तो सोनिया गांधी के आशीर्वाद से एसी स्कीमात पर‌ सारे मुल्क में अमल किया जाता।

पुर्व‌ चीफ मिनिस्टर स्वर्गीय‌ वाई एस राज शेखर रेड्डी की बेवा और जगन की माँ विजयाम्मा ने इन आलोचनाओं का जवाब देते हुए चुनावी जलसों के दौरान कहा कि जब तक वो ( वाई एस आर ) ज़िंदा थे इन्हें गरीबों के लिए मुख़्तलिफ़ भलाई स्कीमात शुरू करने के लिए मुल्क भर में एक मिसाली नमूना की तरह पेश किया जा रहा था । और अब वो हमारे बिच नहीं रहे थे अब ख़ुद ये कांग्रेस उन पर इल्ज़ाम लगारही है ।

TOPPOPULARRECENT