Wednesday , January 17 2018

जगन मोहन रेड्डी चंचलगुडा जेल से दवाख़ाना उस्मानिया मुंतक़िल, भूक हड़ताल जारी

रियासत की तक़सीम के फ़ैसले के ख़िलाफ़ जेल में ग़ैर मुअयना मुद्दत की भूक हड़ताल का आग़ाज़ करने वाले जगन मोहन रेड्डी को आज रात उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल मुंतक़िल कर दिया गया।

रियासत की तक़सीम के फ़ैसले के ख़िलाफ़ जेल में ग़ैर मुअयना मुद्दत की भूक हड़ताल का आग़ाज़ करने वाले जगन मोहन रेड्डी को आज रात उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल मुंतक़िल कर दिया गया।

पिछ्ले 5 रोज़ से भूक हड़ताल पर मौजूद जगन मोहन रेड्डी की सेहत में बिगाड़ के सबब जेल इंतेज़ामीया ने ये इक़दाम क्या। बताया जाता हैके जगन के जिस्म का शूगर लेवल कम होने के सबब उन्हें उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल मुंतक़िल किया गया क़ब्लअज़ीं पुलिस की वसीअ तर सयान्ती इंतेज़ामात किए गए थे और आला पुलिस ओहदेदार की निगरानी में ब्लड प्रफ़ू गाड़ी में जगन को हॉस्पिटल मुंतक़िल किया गया।

जगन के हामीयों के एहतेजाज और इमकानी एहतेजाज के पेशे नज़र सिटी पुलिस के ग़ैरमामूली इंतेज़ामात किए गए थे। चंचलगुडा जेल के अलावा उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल के क़रीब मर्कज़ी नियम फ़ौज दस्तों को तायुनात कर दिया गया था और साउथ ज़ोन के अलावा वैस्ट और सेंट्रल ज़वीन पुलिस के तमाम इन्सपेक्टर को डयूटी पर तलब करलिया गया।

जेल और हॉस्पिटल के क़रीब जगन के हामीयों ने अपने क़ाइद की सेहत की फ़िक्र में जमा होकर हुकूमत के ख़िलाफ़ नारा बुलंद किए जैसे ही जगन मोहन रेड्डी को हॉस्पिटल मुंतक़िल किया गया जगन के हामीयों की कसीर तादाद हॉस्पिटल पहुंच गई ताहम पुलिस ने लाठी चार्ज करते हुए हामीयों को मुंतशिर कर दिया जबकि पुलिस के सख़्त गीर रवैये के सबब एक तरफ़ मीडीया और दुसरे तरफ़ जगन के अफ़राद ख़ानदान को पुलिस की सख़्ती का सामना करना पड़ा।

पुलिस ने एक मौके पर जगन की वालिदा वाई एस विजया अम्मां जगन की बीवी भारती रेड्डी और बहनोई बिरादर अनील की गाड़ी को रोक लिया बादअज़ां तक़रीबन एक घंटे बाद उन्हें जगन से मुलाक़ात के लिए हॉस्पिटल में दाख़िला की इजाज़त दी गई।

उस्मानिया जनरल हॉस्पिटल में डाक्टरों पर मुश्तमिल टीम ने जगन की तिब्बी जांच की। ताहम वाई एस आर कांग्रेस के क़ाइद ने तिब्बी इमदाद लेने से इनकार कर दिया और अपनी ग़ैर मुअयना मुद्दत की भूक हड़ताल को जारी रखा।

डाक्टरों के मुताबिक़ जगन तिब्बी इमदाद से मुसलसिल इनकार कररहे थे।अपने फ़र्ज़ंद से मुलाक़ात के बाद मीडीया से बातचीत करते हुए वाई एस वजया अम्मां ने कहा कि ज़ुलम-ओ-ज़्यादती के ताल्लुक़ से अगर हुकूमत से सवाल किया जाये तो बेहतर होगा जगन के अफ़राद ख़ानदान रात तक़रीबन एक बजकर 40 मिनट को हॉस्पिटल से घर के लिए रवाना होगए।

TOPPOPULARRECENT