Friday , July 20 2018

जज लोया केस: SIT जांच की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित रखा, महाराष्ट्र सरकार कर रही है विरोध

सीबीआई जज बीएच लोया की मौत के मामले में शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। एसआईटी जांच की याचिका पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया।

महाराष्ट्र सरकार जज लोया की मौत मामले में एसआईटी जांच का विरोध कर रही है। साथ ही इस बाबत दायर याचिका को राजनीति से प्रेरित बताया है।

फडणवीस सरकार की ओर से पैरवी कर रहे सीनियर एडवोकेट मुकुल रोहतगी का कहना है कि ये याचिका न्यायपालिका को सेकेंडलाइन करने के लिए दायर की गई है, क्योंकि इसके जरिए राजनीतिक फायदा उठाने की कोशिश की जा रही है।

मुकुल रोहतगी ने तर्क दिया कि इस मामले में जज लोया के साथी जजों के बयान के बाद उनकी मौत के पीछे अब कोई रहस्य नहीं रह गया है. लिहाजा इसकी आगे जांच की कोई जरूरत नहीं है।

CBI के स्पेशल जज लोया की मौत 30 नवंबर 2014 को हुई थी। तीन साल तक किसी ने इस पर उंगली नहीं उठाई और अब अचानक इस पर सवाल उठाए जा रहे हैं। ये सारे सवाल कारवां की नवंबर 2017 की खबर के बाद उठाए गए, जबकि याचिकाकर्ताओं ने इसके तथ्यों की सत्यता की जांच नहीं की।

TOPPOPULARRECENT