Thursday , September 20 2018

जदयू ने शुरू की अज़ीम इत्तिहाद की कवायद

पटना : जदयू ने बिहार के बाद अब अगले साल पांच रियासतों में होनेवाले एसेम्बली इन्तिखाब में अपनी दमदार मौजूदगी की मुहिम शुरू कर दी। पीर को पार्टी की कौमी वोर्किंग कमेटी की इजलास के दूसरे दिन पीर को पार्टी सदर शरद यादव के रिहाईशगाह पर पांच रियासतों के रियासती सदर से इन्तिखाबी पालिसी पर बहस हुई। बैठक में शरद यादव के अलावा बिहार के रियासती सदर सीनियर लीडर नारायण सिंह, एमपी आरसीपी सिंह वगैरा लीडरों की मौजूदगी में इन रियासतों में अज़ीम इत्तिहाद की इमकानात पर गौर किया गया।

अगले साल केरल, बंगाल, आसाम, तमिलनाडु और पांडिचेरी में इन्तिखाब होना है। इन रियासतों में पार्टी भाजपा को रोकने के लिए बराबर ख्याल वाले पार्टियों के साथ जदयू मजबूत इत्तिहाद बनाना चाहता है। इसी सिलसिले में जदयू लीडरों से गौर व खाऊस किया। पार्टी केरल एसेब्ली के इन्तिखाब में भी अपनी मौजूदगी चाहती है। वहां एमपी वीरेंद्र कुमार की कियादत में मौजूदा हुकूमत में एक वजीर और दो एमएलए भी हैं। इस बार के इन्तिखाब में केरल में पार्टी बिहार के तर्ज पर सीटों का तालमेल करना चाहेगी। इसी तरह जदयू असम में बदरुद्दीन अजमल की पार्टी और प्रफुल्ल कुमार महंत की पार्टी के साथ भी सीटों के तालमेल की इमकानात तलाश रहा है।

पार्टी ने बंगाल में होनेवाले इन्तिखाब को लेकर भी गौर किया। यहां जदयू की नजदीकी तृणमुल कांग्रेस अौर ओपोजिशन वाम पार्टियों के साथ रही है। जराये बताते हैं कि इन हालात के दरमियान बंगाल के आईंदा एसेम्बली इन्तिखाब में जदयू के मुमकिना तालमेल पर भी इब्तेदाई बहस की गयी।

TOPPOPULARRECENT