जनरल वीके सिंह ने कहा, “2005 से 2012 तक कश्मीर में शांति थी, उसके बाद क्यों बिगड़े हालात?”

जनरल वीके सिंह ने कहा, “2005 से 2012 तक कश्मीर में शांति थी, उसके बाद क्यों बिगड़े हालात?”

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद मोदी सरकार जहां पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए एक्शन प्लान बना रही है और कार्रवाई शुरू कर चुकी है वहीं पूर्व सेना प्रमुख और केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने कश्मीर को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि, “यही दक्षिण कश्मीर 2005-2012 में बहुत शांतिपूर्ण था। 2012 के बाद की घटनाओं में वृद्धि का क्या कारण है। क्या आपने इसका विश्लेषण किया है? ऐसा क्यों हुआ?”

अपनी बात आगे रखते हुए उन्होंने कहा कि, “कुछ युवाओं को पत्थर फेंकने के लिए भुगतान किया जा रहा है, कुछ युवा वाहनों पर खड़े होकर चिल्लाते हैं, ‘हम क्या कह सकते हैं, आजादी’ ये कश्मीर के पूरे युवाओं की भावना को नहीं दर्शाता है। एक बड़ा काम वहां किया जा रहा है, हां और अधिक किया जा सकती है।”

कश्मीर को लेकर दिए वीके सिंह के बयान को यूपीए सरकार से जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि 2005 से 2012 में कांग्रेस गठबंधन की यूपीए सरकार थी।

वहीं बीजेपी-पीडीपी के गठबंधन पर वीके सिंह ने कहा, ‘गठबंधन सरकार बाद में आई जब एक पार्टी को घाटी में अधिक समर्थन मिला, दूसरे को जम्मू में अधिक समर्थन मिला। पूर्व की नीतियों का विश्लेषण करना आवश्यक है। यह देखा जाना चाहिए कि क्या नीतियां एक समग्र विफलता थी या कुछ की गलतियों ने बढ़ावा दिया (आतंकवादियों को)।’

Top Stories