जन्मदिन विशेष: दुनिया कभी नहीं भूल सकती है ‘इरफान पठान’ की उस हैट्रिक को!

जन्मदिन विशेष: दुनिया कभी नहीं भूल सकती है ‘इरफान पठान’ की उस हैट्रिक को!
Click for full image

आज भारतीय टीम के महान गेंदबाज का जन्म दिन है। क्रिकेट की दुनिया में आते ही इतिहास रचने वाले इरफ़ान पठान ने देश के लिए कई कारनामें किये हैं। 27 अक्टूबर 1984 को गुजरात के बड़ौदा में जन्मे इरफान पठान की वो हैट्रिक जिसे आजतक किसी ने नहीं तोड़ सका है।

जन्मदिन विशेष पर हम आज आपको उनकी जिंदगी का वह महत्वपूर्ण लम्हा याद दिलाने जा रहे हैं जब पठान ने टेस्ट क्रिकेट इतिहास का कीर्तिमान बनाया था। टेस्ट क्रिकेट का यह रिकॉर्ड अब भी इरफान पठान के नाम ही दर्ज हैं।

दरअसल, 2006 में सौरव गांगुली के नेतृत्व में भारतीय टीम ने पाकिस्तान का दौरा किया था और इरफान पठान को लेकर चर्चाओं का बाजार काफी गर्म था। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज को भारतीय टीम के गेंदबाजी विभाग का प्रमुख हथियार बताया जा रहा था।

तब पाकिस्तान के कोच जावेद मियांदाद ने शब्दों के बाण छोड़ते हुए कहा कि इरफान में कोई खास बात नहीं है। ऐसे गेंदबाज तो पाकिस्तान की गली-गली में घूमते हैं। इरफान पठान ने कराची टेस्ट में मियांदाद की इस टिपण्णी का करारा जवाब दिया। उन्होंने सीरीज के तीसरे व अंतिम टेस्ट मैच के पहले ही ओवर में हैट्रिक लेकर इतिहास रच दिया। यह पहला मौका था जब टेस्ट के पहले ओवर में किसी गेंदबाज ने हैट्रिक ली हो।

29 जनवरी से 1 फरवरी 2006 तक खेले गए इस टेस्ट में इरफान ने पहले ओवर की चौथी, पांचवी और छठी गेंद पर विकेट लेकर हैट्रिक पूरी की थी। उन्होंने सलमान बट, यूनिस खान और मोहम्मद यूसुफ को अपना शिकार बनाया था। तीनों बल्लेबाज बिना खाता खोले पवेलियन लौटे थे।

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने गेंद को शानदार स्विंग कराई और पहली तीन गेंदों पर सलमान बट को बीट किया। चौथी गेंद इरफान ने ऑफस्टंप लाइन से आउटस्विंग कराई, जिस पर सलमान बट के बल्ले का बाहरी किनारा लगा और पहली स्लिप में मौजूद राहुल द्रविड़ ने शानदार कैच लपका।

इरफान ने अगली ही गेंद ऑफस्टंप लाइन से इनस्विंग कराई। यह गेंद गुडलेंथ स्पॉट पर आई। यूनिस खान फ्रंटफुट पर गए और क्रॉस शॉट खेलने का प्रयास किया, बल्लेबाज काफी लेट हुए चुके थे क्योंकि गेंद तब तक पैड पर लग चुकी थी और अंपायर साइमन टॉफेल को उंगली उठाने में देरी नहीं लगी।

इसके बाद पाकिस्तान के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज मोहम्मद यूसुफ़ बल्लेबाजी करने के लिए आए। उन पर इरफान को हैट्रिक से रोकने का अतिरिक्त दबाव भी था। इरफान पठान ने यूसुफ़ को भी आगे की लाइन पर इनस्विंग गेंद डाली, जो उनके डंडे बिखेर कर चली गई। यूसुफ़ के बैट और पैड के बीच काफी गैप रहा और इरफान ने टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रच दिया।

Top Stories