एक बेटे की ख़्वाहिश:जब तक अब्बु शराब नहीं छोड़ेंगे,हम स्कूल नहीं जायेंगे

एक बेटे की ख़्वाहिश:जब तक अब्बु शराब नहीं छोड़ेंगे,हम स्कूल नहीं जायेंगे
Click for full image

धनबाद: झारखण्ड में गिरिडीह के सरिया प्रखंड के एक प्राइवेट स्कूल के लगभग 12 तालिबे इल्मों ने मंगलवार को स्कूल जाने से यह कहकर मना कर दिया कि जब तक गांव के लोग, उनके अब्बु शराब पीना नहीं छोड़ेंगे तब तक वे लोग स्कूल नहीं जाएंगे। इससे बच्चों के घरवालों के होश उड़ गए।

बच्चों में पवन सिंह, भोला सिंह, रामबचन सिंह और सरिता कुमारी वगैरह ने बताया कि वे लोग शराब से होनेवाले घर के झगड़े से परेशान हैं। आए दिन इसके लिए घर में किचकिच होता है। इसलिए उनलोगों ने सोचा है कि जब तक ऐसे गाजिर्यन शराब पीना बंद नहीं करते तब तक वे लोग स्कूल नहीं जाएंगे। स्कूल नहीं जानेवाले तालिबे इल्मों का कहना है कि वालदैन शराब के नशे में रहते हैं। इन्हें हम पढ़नेवाले बच्चों के मुस्तक़बिल को लेकर कोई फ़िक्र नहीं रहती और ना ही ज़रूरतें पूरी करते हैं।

बाद में जब वाल्दैन ने उस्ताद के सामने शराब न छुने का वादा किया और हलफ लिया तब जाकर कहीं बच्चे स्कूल गए। सरिया के भगनाटांड़ में न्यू कार्मेल स्कूल के करीब दो दर्जन तलबा ने मंगलवार को स्कूल जाने से मना कर दिया। बच्चों का कहना था कि उनके गाजिर्यन हमेशा शराब के नशे में रहते हैं। वे लोग जब तक शराब पीना बंद नहीं करेंगे तब तक हम लोग स्कूल नहीं जाएंगे। डिवीज़न ऑफिस से लगभग 13 किलोमीटर दूर है भगनाटांड़। उक्त स्कूल में सौ से ज्यादा बच्चे पढ़ते हैं।

Top Stories