Friday , December 15 2017

जबरन मजहब तब्दील मामला : मुतासिरा तालिबा की वालिदा ने कहा, इंसाफ के लिए लड़ूंगी

जबरन मजहब तब्दील करा शादी कराने के मामले में मुतासिरा तालिबा की वालिदा ने कहा कि इंसाफ के लिए मरते दम तक लड़ूंगी। मुझे हर हाल में इंसाफ चाहिए। मुजरिमों को फांसी की सजा मिले.

जबरन मजहब तब्दील करा शादी कराने के मामले में मुतासिरा तालिबा की वालिदा ने कहा कि इंसाफ के लिए मरते दम तक लड़ूंगी। मुझे हर हाल में इंसाफ चाहिए। मुजरिमों को फांसी की सजा मिले. इंसाफ नहीं मिला, तो बेटी के साथ खुकुशी करूंगी। अब तक मुल्ज़िम गिरफ्तार नहीं हुए हैं।

वजीरे आला से मिल कर मुलजिमों की गिरफ्तारी और सजा दिलाने की मुतालिबा करूंगी। चार महीने तक पुलिस ने इस वाकिया को संजीदगी से नहीं लिया और अब कह रही है कि जल्द ही मुलजिमों को गिरफ्तार कर लेंगे। अब तक लड़के के मुल्ज़िम वालिदैन, बहन और मामा की गिरफ्तारी नहीं हो पायी है। इसे क्या माना जाये। कैसे समझें कि भागलपुर पुलिस मेरे मामले में संजीदा है। खातून ने कहा कि वह आखरी सांस तक इंसाफ के लिए लड़ती रहेगी।

तालिबा का यरगमाल मामले में मुल्ज़िम मो शरीफ आलम का बेटा मेराज आलम ने वजीरे आला को खत लिखा है। खत में कहा गया है कि यह पूरा मामला झूठा है। मामला इश्क़ का है, जिसे दूसरा शक्ल दिया जा रहा है। लड़की वालिदा और मेरे खानदान में पहले से जान-पहचान है। एक ही स्कूल में लड़की की वालिदा और मेरी बहन आसातिजा थीं। इस वजह से एक-दूसरे के खानदान में आना-जाना था। इस दौरान लड़का-लड़की में इश्क़ हो गया। जनवरी 2013 में लड़का-लड़की दोनों सड़क पर घूमते हुए मोजाहिदपुर थाना में पकड़ाये थे। इश्क़ का मामला होने के बाद भी मेरे अहलेखाना को इसमें फंसाया गया है।

TOPPOPULARRECENT