Monday , December 18 2017

जबरी मज़हबी तबदीली, असल मुल्ज़िम गिरफ़्तार

आगरा पुलिस को चकमा दे कर फ़रार होने वाले नंदकिशोर बाल्मिकी की ख़ुदसपुर्दगी

आगरा

पुलिस को चकमा दे कर फ़रार होने वाले नंदकिशोर बाल्मिकी की ख़ुदसपुर्दगी

उत्तरप्रदेश के शहर आगरा में हाल ही में 100 अफ़राद का मुबय्यना तौर पर ज़बरदस्ती मज़हब तबदील करवाने के असल मुल्ज़िम नंदकिशोर बाल्मिकी को आज यहां गिरफ़्तार करलिया गया जब इस ने ख़ुद को पुलिस के हवाले किया था। आगरा पुलिस ने कहा कि बाल्मिकी ने आज सुबह हरी पर्बत पुलिस स्टेशन में ख़ुद को सुपुर्द किया।

बाल्मिकी और धर्मा जागरण मंच के ख़िलाफ़ 9 दिसम्ब‌र को एक एफ़ आई आर दर्ज किया गया था। बाल्मिकी इस तंज़ीम का कन्वीनर है जिस पर उन 100 अफ़राद की जबरी मज़हबी तबदीली का इल्ज़ाम है। ज़बरदस्ती मज़हब तबदील करवाए जाने वाले उन 100 अफ़राद में अक्सर मुसलमान मर्द-ओ-ख़वातीन और बच्चे थे जो आगरा के स्लम इलाक़ों में रहते थे।

जिन्हें धर्मा जागरण मंच ने एक तक़रीब में हिंदू रसूम और पूजा के ज़रिये हिंदू बनाया था। एक शख़्स इस्माईल जो ख़ुद भी मज़हब तबदील करवाने जाने वाले अफ़राद में शामिल था। पुलिस में इस वाक़िये की शिकायत दर्ज करवाई थी जिस की बुनियाद पर पुलिस ने नंदकिशोर बाल्मिकी और उसकी हिंदू तंज़ीम के ख़िलाफ़ मुक़द्दमा दर्ज करलिया था।

पुलिस ने बाल्मिकी को गिरफ़्तार करने के लिए कई मुक़ामात पर धावे किए थे और इस का अता पता बताने वालों के लिए 12000 रुपये के इनाम का एलान किया था। बाल्मिकी 14 दिसम्ब‌र को पुलिस को चकमा देते हुए फ़रार होने में कामयाब होगया था। इस के बेटे राहुल और एक रिश्तेदार कृष्णा कुमार को ज़िला एटा में वाक़्य एक गेस्ट हाउज़ से गिरफ़्तार किया गया था।

TOPPOPULARRECENT