Sunday , December 17 2017

जब राम मंदिर निर्माण का मामला SC में लंबित, तो भागवत चीफ जस्टिस क्यों बन रहे हैं : ओवैसी

हैदराबाद : ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने अारएसएस प्रमुख मोहन भागवत के राम मंदिर निर्माण को लेकर बयान पर उन्होंने कहा कि जब मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित तो भागवत किस हक से राम मंदिर बनना चाहिए की बात कह रहे हैं, वो क्या चीफ जस्टिस हैं।

ओवैसी ने दावा किया है कि संघ और भाजपा राम मंदिर पर ‘निंदनीय’ बयान देकर गुजरात चुनाव में इसका राजनीतिक फायदा लेना चाहते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि आरएसएस आग से खेल रहा है और सुप्रीम कोर्ट इस पर संज्ञान लेगा।

बाबरी मस्जिद पर 5 दिसंबर को सुनवाई से पहले भाजपा और अारएसएस ‘भय का वातावरण’ बनाना चाहते हैं। यह बयान न देश के लिए अच्छा है और न ही देश के सुप्रीम कोर्ट के लिए।’

ओवैसी ने कहा यह एक नाजुक मसला है और आरएसएस इस तरह के निंदनीय बयान देकर आग से खेल रहा है। हमें आशा है कि सुप्रीम कोर्ट साक्ष्यों के आधार पर फैसला देगा न कि केवल आस्था के आधार पर।

गौरतलब है कि राम मंदिर मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने बड़ा बयान दिया था। कर्नाटक के उडुपी में चल रही धर्म संसद के दौरान मोहन भागवत ने कहा कि राम जन्मभूमि पर सिर्फ राम मंदिर ही बनेगा। धर्म संसद में आरएसएस प्रमुख ने कहा, ‘राम जन्मभूमि पर राम मंदिर ही बनेगा और कुछ नहीं बनेगा। उन्हीं पत्थरों से बनेगा, उन्हीं की अगवानी में बनेगा, जो इसका झंडा उठाकर पिछले 20-25 वर्षों से चल रहे हैं

TOPPOPULARRECENT