Sunday , December 17 2017

जब संसद में फूट फूट कर रोए थे योगी आदित्यनाथ, सरकार पर लगाया था यह आरोप

गोरखपुर। यूपी के नए मुख्यमंत्री के लिए अब योगी आदित्यनाथ के नाम पर मुहर लग चुकी है। अपनी हिंदुत्व वादी छवि और विवादास्पद बयानों से पहचाने जाने वाले योगी से जुड़ी एक ऐसी भी कहानी है, जब दुनिया ने उन्हें फूट फूट कर रोते हुए देखा था।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

योगी वर्ष 2006 में लोकसभा में कुछ बोलने के लिए खड़े हुए थे लेकिन खुद पर पुलिस हिंसा का जिक्र करते हुए रोने लगे। तब मुलायम सिंह यादव यूपी के मुख्यमंत्री थे और योगी पर गोरखपुर दंगे का आरोप लगा था। मजबूत और विवादित बयान देने वाले सांसद के रूप में प्रसिद्ध योगी ने वर्ष 2006 में लोकसभा अध्यक्ष से अपनी बात रखने के लिए विशेष अनुमति मांगी। योगी को समय दिया गया और वह जैसे ही बोलने के लिए खड़े हुए, फूट फूट कर रोने लगे। उन्होंने आरोप लगाया कि सपा सरकार उन्हें निशाने पर लेकर पुलिस के माध्यम से तंग कर रही है।

बता दें कि इस दौरान पूर्वांचल के कई शहरों में हिंसा फैला हुआ था जिसके लिए योगी को जिम्मेदार ठहराया जा रहा था। योगी ने संसद को बताया कि गोरखपुर जाते हुए उन्हें शांति बाधित करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया और जिस मामले में उन्हें केवल 12 घंटे बंद रखा जा सकता था लेकिन उन्हें इस मामले में 11 दिन जेल में रखा गया।

TOPPOPULARRECENT