जब ज़मीन खिसकी है तो ज़ुबान भी फिसल गयी है : नीतीश

जब ज़मीन खिसकी है तो ज़ुबान भी फिसल गयी है : नीतीश
Click for full image
PATNA - JANTA KE DARVAR ME C . M . NITISH KUMAR

पटना: बिहार विधानसभा इंतेखाबात के चौथे मरहले का शोर थमने से पहले लीडरों ने तश्हीर में अपना पूरा जोर लगा दिया है और वज़ीर ए आला नीतीश कुमार ने मधुबनी के विस्फी और सिमरी में इंतेखाबी आवामी इजलास से खिताब किया. नीतीश ने कहा कि आप लोगों ने हमे मौका दिया तो मैंने हर सूबे में काम किया. तालीम की बात हो या पुल-पुलिया की सबकुछ हमने ठीक किया. सूबे में अमन कायम की, अच्छी गवर्नेस लाया.

नीतीश कुमार ने कहा कि मैंने अपने इक्तेदार में 36 हजार गांवों में बिजली पहुंचायी. इस बार मौका दें तो महज एक साल में हर घर को सरकारी खर्च पर बिजली, पक्का नाला और स्टूडेंट्स को चार लाख का क्रेडिट कार्ड देंगे. साथ ही नीतीश ने कहा कि 20 से 25 साल के नौजवानों को एक हजार रुपये का बेरोजगारी अलाउंस भी देंगे. नीतीश ने बिहार सरकार के सरकारी नौकरियों में 35 फीसदी रिजर्वेशन देंगे.

उन्होंने एनडीए और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि जब जमीन खिसकी है तो जुबान भी फिसल गयी है. नीतीश ने कहा कि बीजेपी वाले माहौल बिगाड़ने में लगे हुए हैं. एक बार फिर दाल की महंगाई पर निशाना साधते हुए कहा कि दाल महंगी हो गई है आपलोग सस्ता चावल खाईए.

वहीं नीतीश की इजलास में कुछ मुकामी लीडरों की नाराजगी भी सामने आई. कई मुकामी कारकुनो ने कहा कि मंच पर सिर्फ चापलूसों को जगह दी गयी जिनका वोट बुनियादी वोट है उन्हें मंच से नीचे उतार दिया गया. वहीं सिमरी में इंतेखाबी इजलास से खिताब करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि बीजेपी के क़ौमी सदर अमित शाह का दफ्तर पटना का मौर्या होटल बना हुआ है. नीतीश कुमार ने कहा कि ख्वातीन ने मेहनत के काम किए हैं गांव की लड़कियों का एतेमाद बढ़ा है. वे साइकिल से स्कूल जाने लगी हैं. उन्होंने कहा कि अपने हक और हुकूक के लिए अब ख़्वातीन बिहार में आवाज उठाने लगी हैं.

नीतीश कुमार ने समाजी हमआहंगी पर चर्चा करते हुए कहा कि एनडीए बिहार में समाजी हमआहंगी को बिगाड़ने की कोशिश कर रही है. देही इलाके में कही हड्डी फेंके जाने मूर्ति तोड़े जाने और अफवाह फैलाने की कोशिश की जा रही है. लेकिन आवाम हर चीज को समझ चुकी है और बिहार से एनडीए का सफाया करेगी.

Top Stories