Friday , December 15 2017

जमहूरीयत को किसी की मर्ज़ी के मुताबिक़ नहीं चलाया जासकता: मोदी

नई दिल्ली 11दिसंबर:पार्लियामेंट में शूरू गुल और गड़बड़ पर इज़हारे अफ़सोस करते हुए वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी ने कहा कि जमहूरीयत को किसी ताक़त या बल पर यरग़माल नहीं बनाया जा सकता।

उन्होंने कांग्रेस की तरफ से मुसलसिल किए जानेवाले एहतेजाज को निशाना बनाया। मोदी ने कहा कि जमहूरीयत को चुनाव और हुकूमतों तक ही महदूद नहीं किया जा सकता।

उन्होंने कांग्रेस का हवाला दिए बग़ैर कहा कि पार्लियामेंट के दोनों एवानों में नेशनल हेराल्ड केस पर एहतेजाज किया जा रहा है। जमहूरीयत को किसी की मर्ज़ी के मुताबिक़ नहीं चलाया जासकता और ना ही जमहूरीयत किसी के घर की लौंडी हो सकती है।

मोदी ने ये भी कहा कि ग़रीबों को सिर्फ क़वानीन बनाने से हुक़ूक़ हासिल नहीं होते , उस के लिए ज़रूरी हैके अमली इक़दामात किए जाएं। पार्लियामेंट में कार्रवाई को रोक कर ग़रीबों के लिए कोई फ़ायदे नहीं पहुँचा या जा रहा है। ना सिर्फ जी एसटी बिल बल्कि कई दुसरे मुवाफ़िक़ ग़रीब इक़दामात को पार्लियामेंट के अंदर ही जकड़ कर रखा गया है। आप देख सकते हैंके पिछ्ले तीन दिन से इस एवान की हालत क्या हो रही है।

यहां पर मेरी मर्ज़ी चल रही है, लेकिन मैं कहता हूँ कि ये मेरी मर्ज़ी नहीं चलेगी। मेरे दिल या ज़हन में जो आए करूँगा , सोचने से जमहूरीयत के मक़ासिद पूरे नहीं होते। इस जमहूरीयत को ताक़त या दौलत के बल पर मफ़लूज नहीं बनाया जा सकता।

 

TOPPOPULARRECENT