Wednesday , December 13 2017

जमीयत उलेमा ए हिन्द ने निकाली भाईचारा रैली, कहा देश में रह रहे सभी धर्मों के लोग सुरक्षित हैं

नई दिल्ली: पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने अपने अपने पद से विदाई लेते हुए देश मे मुसलमानों की सुरक्षा को लेकर बयान दिया था। जिसपर काफी सियासत हो रही है।

उनके इस बयान के बाद आज मुस्लिमों की देश मे बड़ी संस्था जमीयत उलेमा ए हिन्द ने भाई चारा बढ़ाने का संदेश देते हुए रैली निकाली। शहर के जीआईसी चौराहे पर जमीयत उलेमा ए हिन्द के बैनर तले हजारों की संख्या में इक्क्ठे हुए और उन सब ने बड़े ही शांतिपूर्वक ढंग से इस मार्च को अंजाम दिया।
इसके पीछे उनका मकसद ये बताना था की देश में किसी भी धर्म से जुड़े लोग असुरक्षित नहीं हैं।

इस मार्च का नेतृत्व शहर इमाम सैयद मासूम अली आजाद ने किया।

इस मार्च में बड़ी तादाद में बच्चे, नौजवान, बूढ़े शामिल हुए। सभी ने हाथों में तिरंगा लिए और भाई चारे का संदेश लिए रैली में शामिल हुए।
इस बारे में

मुफ़्ती सलमान ने कहा कि ये संस्था देश मे धार्मिक भेदभाव, आराजकता और हिंसा को बढ़ावा देने वाले तत्वों को भाईचारे की ताकत दिखा कर जवाब दे रही है।

इस देश मे हम सदियों से साथ रहते आ रहे हैं और इस मार्च में भी सभी धर्मों के लोग शामिल हैं।उन्होंने सभी का आह्वान किया कि आइए जश्न ए आजादी के मौके पर देश के भाईचारे को तोड़ने वाले को मुंह तोड़ जवाब दें।

ये शान्ति मार्च शहर में काफी जगहों से निकला। इसमें लोगों ने देश मे वैचारिक आधार पर भेदभाव फैलाने वालों पर कार्रवाई करने की मांग की।

TOPPOPULARRECENT