जम्मू-कश्मीर के वित्त मंत्री हसीब द्राबू को महबूबा सरकार ने मंत्रीमंडल से किया निष्कासित

जम्मू-कश्मीर के वित्त मंत्री हसीब द्राबू को महबूबा सरकार ने मंत्रीमंडल से किया निष्कासित

गलत बयानबाजी कैसे मुसीबत का कारण बन जाती है, इसे कश्मीर के मेहबूबा मंत्रिमंडल से निकाले गए वित्त मंत्री डॉ. हसीब द्राबू के मामले से समझा जा सकता है।

बता दें कि द्राबू ने कश्मीर को एक सामाजिक मसला बताया था, जिसे लेकर खूब हंगामा हुआ था। अंततः मुख्यमंत्री मेहबूबा मुफ़्ती ने उन्हें अपने मंत्रिमंडल से निष्कासित कर दिया।

गौरतलब है कि वित्त मंत्री डॉ. हसीब द्राबू ने नई दिल्ली में गत दिनों आयोजित एक सेमीनार में उद्योगपतियों और पूंजीपतियों को जम्मू- कश्मीर में निवेश के लिए प्रेरित करते हुए कहा था कि कश्मीर कोई सियासी मसला नहीं है, कश्मीर एक सामाजिक मसला है।

बाद में उनके इस बयान पर राज्य की राजनीति में खूब हंगामा हुआ। प्रमुख विपक्षी दल नेशनल कॉन्फ्रेंस ने तो इसे भाजपा के आगे पीडीपी के घुटने टेकने की नीति का परिणाम तक बता दिया।

आखिर इस मामले में महबूबा मुफ्ती ने उनके कश्मीर संबंधी बयान पर संज्ञान लिया और इस बयान से पैदा हुए हालात पर विचार करने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री महबूबा की अध्यक्षता में पीडीपी के विधायकों और वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक हुई।

दोपहर बाद मुख्यमंत्री महबूबा ने द्राबू को अपने मंत्रिमंडल से बाहर करने का फैसला ले लिया। बाद में राज्यपाल ने इस संदर्भ में सत्ताधारी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की ओर से भेजे गए पत्र के आधार पर डॉ. हसीब द्राबू को मंत्रिमंडल से हटाने की पुष्टि कर दी। अब कश्मीर में नए वित्त मंत्री की तलाश शुरू हो गई है।

Top Stories