Tuesday , December 19 2017

जम्मू-कश्मीर मुआमले में बी जे पी की मर्कज़ को वार्निंग

जबलपूर, 15 अक्तूबर (यू एन आई): भारतीय जनतापार्टी (बी जे पी) के सीनीयर लीडर ईल के अडवानी ने आज मर्कज़ी हुकूमत को ख़बरदार किया कि जम्मू-कश्मीर में अमन की बहाली के लिए मुक़र्रर मुज़ाकरात कार अगर कोई ग़लत रिपोर्ट देते हैं तो उसे तस्लीम नहीं किय

जबलपूर, 15 अक्तूबर (यू एन आई): भारतीय जनतापार्टी (बी जे पी) के सीनीयर लीडर ईल के अडवानी ने आज मर्कज़ी हुकूमत को ख़बरदार किया कि जम्मू-कश्मीर में अमन की बहाली के लिए मुक़र्रर मुज़ाकरात कार अगर कोई ग़लत रिपोर्ट देते हैं तो उसे तस्लीम नहीं किया जाएगा।

बदउनवानी, महंगाई और ब्लैक मनी (काला धन) के मसले पर जिन चेतना यात्रा पर निकले मिस्टर अडवानी ने यहां एक जल्सा-ए-आम को बताया कि ऐसी इत्तिला है कि ये मुज़ाकरात कार एक दो दिन के अंदर अपनी रिपोर्ट पेश करने वाले हैं ।

उन्हों ने कहा कि मुज़ाकरात कार कोई ग़लत रिपोर्ट पेश नहीं करसकेंगी। उन्हों ने मर्कज़ को मुतनब्बा करते हुए कहा कि बी जे पी सरहदी रियासत के बारे में 1953-ए-से कम किसी भी सूरत-ए-हाल इको तस्लीम नहीं करेगी।

मिस्टर अडवानी ने कहा कि जिन सिंह के लीडर श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने जम्मू-ओ-कश्मीर के मसले पर एक एजंडा तय किया था और उन की क़ुर्बानी को रायगां नहीं होने दिया जाएगा।

मिस्टर अडवानी ने कहा कि बी जे पी का शुरू से ही ये मौक़िफ़ रहा है कि जम्मू-कश्मीर हिंदूस्तान का अटूट हिस्सा है। मिस्टर अडवानी ने कहा कि साबिक़ जिन सिंह और बी जे पी ने मुल़्क की सालमीयत और जमहूरीयत को बरक़रार रखने केलिए जो एजंडा तय किया था पार्टी इस पर क़ायम रहेगी।

बी जे पी लीडर ने कहा कि उन्हों ने बदउनवानी के ख़िलाफ़ ये यात्रा नोट के बदले वोट वाक़िया को बेनकाब करने वाले फ़िगन सिंह किलसती, महावीर सिंह भगोरा से तरग़ीब हासिल करके शुरू की है। मिस्टर किलसते और भगोरा ने 2008-ए-में मनमोहन सिंह हुकूमत को बचाने केलिए दी गई रिश्वत की रक़म क़बूल नहीं की थी।

मिस्टर अडवानी ने कहा कि नोट के बदले वोट वाक़िया आज़ादी के बाद इस मुल्क का सब से मज़मूम अस्क़ाम है और बी जे पी इस तरह के घटालों को बर्दाश्त नहीं करेगी और हुकूमत को सज़ा देगी।

उन्हों ने कहा कि इस यात्रा के दौरान वो मलिक के अवाम से ये अह्द करायेंगे कि जमहूरीयत की हिफ़ाज़त की जाएगी, बदउनवानी को ख़तन किया जाएगा और बैरूनी मुल्कों में जमा काले धन को वापिस लाया जाएगा।

उन्हों ने कहा कि बैरूनी मुल्कों में जमा ब्लैक मनी को वापिस लाकर मलिक के हर गांव की तस्वीर बदली जा सकती है।

मिस्टर अडवानी ने कहा कि मुल्क में इतनी सलाहीयत है कि वो पूरी दुनिया में अव्वलीयत हासिल कर सकता है मगर इस के लिए सिर्फ मर्कज़ी हुकूमत को इस का अह्द करने की ज़रूरत है।

मिस्टर अडवानी ने कहा कि साबिक़ वज़ीर-ए-आज़म अटल बिहारी वाजपाई की ज़ेर क़ियादत एन डी ए की हुकूमत में इस अह्द का इज़हार किया गया था ।

हुकूमत ने मुल्क में क़ौमी शाहराएं बनाईं और देहात को जोड़ने केलिए वज़ीर-ए-आज़म ग्राम सड़क योजना शुरू की जो कामयाब रही।

इस मौक़ा पर मध्य प्रदेश के वज़ीर-ए-आला श्यौराज सिंह चौहान ने मर्कज़ पर इल्ज़ाम लगाया कि इस ने बदउनवानी से निमटने के लिए एक ख़ास क़ानून मंज़ूरी केलिए मर्कज़ को भेजा था लेकिन उसे मंज़ूरी नहीं दी गई।

उन्हों ने इल्ज़ाम लगाया कि हम बदउनवानी से निमटना चाहते हैं लेकिन मर्कज़ हमारी मदद नहीं कर रहा है।

बी जे पी के रियास्ती सदर प्रभात झा ने मिस्टर अडवानी को यक़ीन दिलाया कि बदउनवानी से निमटने और बैरूनी मुल्कों में जमा ब्लैक मनी वापिस लाने केलिए उन की इस मुहिम को कामयाब बनाने के लिए वो पूरी मदद करेंगी।

TOPPOPULARRECENT