Thursday , December 14 2017

जम्मू कश्मीर: मुठभेड़ में कर्नल और पुलिस अहलकार शहीद

बहादुरी का मेडल पाने वाले एक कमांडिंग आफीसर जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दहशतगर्दों के साथ लोहा लेते हुए एक दिगर पुलिस अहलकार के साथ शहीद हो गए .

बहादुरी का मेडल पाने वाले एक कमांडिंग आफीसर जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के दहशतगर्दों के साथ लोहा लेते हुए एक दिगर पुलिस अहलकार के साथ शहीद हो गए .

फौज के एक तर्जुमान ने बताया कि यहां से तकरीबन 36 किलोमीटर दूर त्राल के मिंडोरा गांव में मुठभेड़ में 42 क़ौमी राइफल्स के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल एम एम राय और एक पुलिस अहलकार शहीद हो गए.

उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में दो दहशतगर्द भी मारे गए जो उसी इलाके के थे. मुठभेड़ में एक फौजी ज़ख्मी हो गया. तरजुमान ने बताया कि कर्नल राय को दहशतगर्दों के खिलाफ मुहिम की मंसूबाबंदी तैयार करने और उसे अंजाम देने को लेकर यौम ए जम्हूरिया के मौके पर War Service Medal से नावाज़ा गया था. गुजश्ता साल जुनूबी कश्मीर में दहशतगर्दों के साथ मुठभेड़ में उन्होंने अहम किरदार निभाये थें.

कर्नल राय उत्तर प्रदेश के गाजीपुर के रहने वाले थे. वह नौ गोरखा राइफल्स से थे लेकिन क़ौमी राइफल्स में डेप्युटेशन (Deputation) पर थे. उनके खानदान में दो बेटियां और एक बेटा है.

दरसअल पुलिस को खबर मिली थी कि एक मुकामी हिज्बुल दहशतगर्द अपने दिगर साथियों के साथ आया है. पुलिस ने क़ौमी राइफल्स की मदद से तलाशी मुहिम शुरू किया जिसके बाद दहशतगर्दों और सेक्युरिटी फोर्स के बीच मुठभेड़ छिड़ गयी.

पुलिस के मुतबैक मुठभेड़ में मारे गए दहशतगर्दों की पहचान मिंडोरा के साकिन आदिल खान और शिराज डार के तौर पर हुई है . वे हिज्बुल मुजाहिद्दीन से जुड़े थे. ज़ाय मुठभेड़ से हथियार और गोला..बारूद बरामद किए गए.

TOPPOPULARRECENT