Thursday , December 14 2017

जम्मू-कश्मीर विधानसभा में पाकिस्तान विरोधी नारे की गूंज

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर की विधानसभा में सोमवार को उस वक्त भारी शोर-शराबा और हंगामा के दृश्य देखने को मिले जब गठबंधन सरकार की सहयोगी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से जुड़े सदस्यों ने हाल पानपोर हमले जिसमें 8 सीआरपीएफ मारे जबकि 22 अन्य घायल हुए पृष्ठभूमि में पड़ोसी देश पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए गंभीर पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की।

अपने प्रदर्शन के दौरान भाजपा सदस्यों ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में स्थापित कथित आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों पर हवाई बमबारी करने की मांग की। भाजपा सदस्यों की पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी के दौरान विपक्षी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस मुंब्रा एन ने पीडीपी सदस्यों पर चुटकी लेते हुए कहा कि आप लोग अपने सहयोगी के साथ क्यों नहीं देते। हालांकि जहां भाजपा के सदस्यों अपने लौ बयान साथी रवींद्र रैना के नेतृत्व में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी करते रहे, वहीं पीडीपी सदस्य चुपचाप यह सब देखते रहे।

सोमवार की सुबह जैसे ही सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो भाजपा सांसद अपनी सीटों से उठ खड़े हुए और पानपोर हमले की जांच और पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। उनका यह भी मांग थी कि सदन पड़ोसी देश पाकिस्तान के खिलाफ प्रस्ताव पारित करे। अपनी मांग सामने रखने के दौरान भाजपा मुंब्रा एन ने पाकिस्तान मुर्दाबाद ‘के नारे लगाए।

भाजपा सदस्य सूचि पाल शर्मा ने अध्यक्ष से मुखातिब होकर कहा हमलों में वृद्धि हो रही है। ये हमले पाकिस्तान की शह पर हो रहे हैं। हम पानपोर में सीआरपीएफ कर्मियों की मौत की घटना की जांच की मांग करते हैं। ‘ इस पर निर्दलीय विधायक इंजीनियर शेख अब्दुल रशीद ने कहा ‘आपको मांग करने की जरूरत क्यों पड़ी। यह आपकी सरकार, आपको हमले की जांच करनी है तो करो उन्होंने आरोप लगाया कि घाटी में आरएसएस नवाज सरकार बनने के बाद से हमलों की गतिविधियों में वृद्धि हुई। इस अवसर पर रवींद्र रैना ने पाकिस्तान के खिलाफ गंभीर नारेबाजी करते हुए पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में स्थापित कथित आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों पर हवाई बमबारी करने की मांग किया।

उन्होंने कहा, “केंद्र सरकार को सीमा पार स्थापित आतंकवादी प्रशिक्षण शिविरों पर हवाई बमबारी शुरू करनी चाहिए। ” गंभीर पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी के बीच नेशनल कांफ्रेंस सदस्यों ने पीडीपी सदस्यों का मजाक उड़ाते हुए कहा कि वह अपने सहयोगी सदस्यों के साथ क्यों नहीं देते। विपक्षी सदस्यों ने इस अवसर पर हिन्दवाड़ह में नागरिक मौतों का मामला उठाते हुए कहा कि कई आश्वासनों के बावजूद रिपोर्ट पेश नहीं की गई।

इंजीनियर रशीद ने भाजपा से मुखातिब होकर कहा’आप इन बलों की निंदा क्यों नहीं करते जिन्होंने हिन्दवाड़ह में नागरिकों को मार डाला ‘। बाद में अध्यक्ष कवेनदर गुप्ता ने हाल पानपोर हमले की निंदा की। यह राज्य में पीडीपी और भाजपा के गठबंधन पर आधारित गठबंधन सरकार अस्तित्व में आने के बाद तीसरा मौका है कि जब विधानसभा में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की गई।

पिछले साल 22 मार्च को भाजपा सदस्यों ने जम्मू क्षेत्र के सांबा और कठुआ में हुए फिदायीन हमलों की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की थी जिसके बाद विधानसभा के दोनों सदनों ने इन हमलों में राय निंदा करार की थीं । इसके दो हफ्ते बाद यानी 7 अप्रैल 2015 को भाजपा सदस्यों ने कश्मीर के दक्षिण और मध्य में होने वाले तीन हमलों जिनमें तीन पुलिसकर्मी मारे गए थे, के खिलाफ विरोध करते हुए पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की थी।

राज्य में पीडीपी और भाजपा सरकार बनने से पहले शायद ही कभी पाकिस्तान के खिलाफ विरोध होता था.अपोज़िशन सदस्यों ने इस अवसर पर हिन्दवाड़ह में नागरिक मौतों का मामला उठाते हुए कहा कि कई आश्वासनों के बावजूद रिपोर्ट पेश नहीं की गई । इंजीनियर रशीद ने भाजपा से मुखातिब होकर कहा’आप इन बलों की निंदा क्यों नहीं करते जिन्होंने हिन्दवाड़ह में नागरिकों को मार डाला ‘। यह राज्य में पीडीपी और भाजपा के गठबंधन पर आधारित गठबंधन सरकार अस्तित्व में आने के बाद तीसरा मौका है कि जब विधानसभा में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की गई।

पिछले साल 22 मार्च को भाजपा सदस्यों ने जम्मू क्षेत्र के सांबा और कठुआ में हुए फिदायीन हमलों की पृष्ठभूमि में पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की थी जिसके बाद विधानसभा के दोनों सदनों ने इन हमलों में राय निंदा करार की थीं । इसके महज दो हफ्ते बाद यानी 7 अप्रैल 2015 को भाजपा सदस्यों ने कश्मीर के दक्षिण और मध्य में होने वाले तीन हमलों जिनमें तीन पुलिसकर्मी मारे गए थे, के खिलाफ विरोध करते हुए पाकिस्तान विरोधी नारेबाजी की थी। राज्य में पीडीपी और भाजपा सरकार बनने से पहले शायद ही कभी पाकिस्तान के खिलाफ विरोध होता था।

TOPPOPULARRECENT