Friday , January 19 2018

जम्मू-कश्मीर हुकूमत बेरोज़गारी का ख़ातमा करने कोशां : रियास्ती वज़ीर

श्रीनगर , 6 जुलाई (पी टी आई) हुकूमत जम्मू-कश्मीर रियासत में बेरोज़गारी के मसले की यकसूई के लिए कोई हल तलाश करने की तमाम तर कोशिश कर रही है, वज़ीर बराए फाईनानस और उमूर लद्दाख ए आर राठर ने ये बात कही।

श्रीनगर , 6 जुलाई (पी टी आई) हुकूमत जम्मू-कश्मीर रियासत में बेरोज़गारी के मसले की यकसूई के लिए कोई हल तलाश करने की तमाम तर कोशिश कर रही है, वज़ीर बराए फाईनानस और उमूर लद्दाख ए आर राठर ने ये बात कही।

उन्होंने कल ज़िला बडगाम में जल्सा-ए-आम से ख़िताब करते हुए कहा, तक़रीबन 6.50 लाख बेरोज़गार नौजवान मुख़्तलिफ़ एम्प्लॉयमेंट ऐंड कौंसलिंग सैंटरों के पास दर्ज रजिस्टर हैं। हुकूमत अनथक जद्द-ओ-जहद कर रही है कि कोई जामि हल खोज निकाला जाये ताकि ज़्यादा से ज़्यादा नौजवानों को सरकारी और ख़ानगी दोनों शोबों में नौकरियां फ़राहम किए जाएं।

उन्होंने कहा कि हुकूमत सूरत-ए-हाल से पूरी तरह बाख़बर है और हम इन (बेरोज़गार नौजवानों के) चेहरों से मायूसी और नाउम्मीदी दूर करना चाहते हैं। राठर ने कहा कि तवील खलबली के बाद रियासत अब समाजी। मआशी इन्क़िलाब के दहाने पर है।

उन्होंने कहा कि किसी को भी ज़बरदस्त पेशरफ़्त के इस अमल को नाकाम बनाने की इजाज़त नहीं दी जाएगी, जो उमर अबदुल्लाह ज़ेर क़ियादत मौजूदा मख़लूत हुकूमत ने शुरू कर रखा है। उन्होंने ये भी कहा कि इस तरक़्क़ी की क़ीमत पर सियासत नहीं करना चाहीए।

TOPPOPULARRECENT