जम्मू-कश्मीर : LoC के पास पाक की गोलाबारी, स्कूलों के अंदर फंसे बच्चे, बचाव अभियान शुरू

जम्मू-कश्मीर : LoC के पास पाक की गोलाबारी, स्कूलों के अंदर फंसे बच्चे, बचाव अभियान शुरू

पुंछ : जम्मू और कश्मीर के पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर के लगभग आधा दर्जन स्कूलों में बच्चे शनिवार सुबह पाकिस्तानी सेना द्वारा बिना किसी उकसावे के नियंत्रण रेखा के पास तीव्र मोर्टार शेलिंग और छोटे हथियारों की आग का सहारा लेने के बाद अपने-अपने सूल के भवनों में फंस गए। सूत्रों के मुताबिक, भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की और फियरिंग का आदान-प्रदान जारी है। स्थानीय लोगों के अनुसार, मननोट सेक्टर से तेरकुंडी के समीप बलनोई से लगभग 50 किलोमीटर सीमा के साथ लगभग 50-60 गांव गोलाबारी से प्रभावित थे जो सुबह लगभग 9.45 बजे शुरू हुआ। पाकिस्तानी सैनिकों ने एलओसी के किनारे रहने वाले नागरिक आबादी को निशाना बनाया।

गवर्नमेंट हाई स्कूल, सैंडॉट में एक शिक्षक ने कहा, “हमने छात्रों को एक कमरे में स्थानांतरित कर दिया है और उन्हें दीवारों में से एक के पीछे ले जाने को कहा है।” उन्होंने कहा, “स्कूल की इमारत के 50 मीटर के दायरे में कम से कम आधा दर्जन मोर्टार के गोले गिर गए हैं।” स्थानीय लोगों ने कहा सैंडॉट स्कूल के अलावा, अन्य शैक्षणिक संस्थान जो प्रभावित थे, वे थे गवर्नमेंट मिडिल स्कूल बेहरोट और प्राइमरी स्कूल लंजियोट थे।

गोलीबारी के बाद, प्रशासन को बच्चों को बचाने के लिए कई फोन आए। पुंछ के उपायुक्त राहुल यादव ने स्वीकार किया कि बालाकोट इलाके में पांच-छह स्कूल मोर्टार की गोलाबारी और छोटे हथियारों से प्रभावित थे। यादव ने कहा कि स्कूलों ने सुबह 8 बजे कक्षाएं शुरू कीं और पाकिस्तानी गोलाबारी शुरू होने के बाद बच्चे और कर्मचारी फंस गए। प्रशासन ने गोलाबारी बंद होते ही बचाव अभियान शुरू किया। सूत्रों ने बताया कि इस बीच, बालाकोट इलाके में एक वाहन और एक पशु शेड क्षतिग्रस्त हो गया। हालांकि, किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है।

Top Stories