जम्मू पहुंचे 250 कश्मीरी छात्र, सिख संगठनों ने मदद के लिए आगे बढ़ाए हाथ

जम्मू पहुंचे 250 कश्मीरी छात्र, सिख संगठनों ने मदद के लिए आगे बढ़ाए हाथ

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ (CRPF) काफिले पर हुए फिदायीन आंतकवादी हमले को लेकर तरह-तरह की तस्वीर सामने आ रही है। जहां एक तरफ जगह-जगह से कश्मीरियों को भगाने की खबर सामने आ रही है वहीं दूसरी तरफ कश्मीरी छात्रों को लेकर लोगों की मदद की भावना भी देखने को मिली। दिल्ली, देहरादून, चंडीगढ़ से जम्मू पहुंचे कश्मीरी छात्रों की लोगों ने बढ़-चढ़ करके मदद की।

सोमवार को  दिल्ली, देहरादून, चंडीगढ़ से जम्मू पहुंचे 250 कश्मीरी छात्रों को लोगों ने खाना सहित सभी समान मुहैया कराए। इसके बाद इनको सेना की गाड़ी से कश्मीर रवाना किया। इससे पहले भारत सहित दुनिया भर के तमाम देशों में वीर सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई और साथ ही घटना की कड़ी निंदा की जा रही है।

दक्षिण गोवा के कश्मीरी व्यापारियों ने अपनी दुकानें बंद करके इस आंतकवादी हमले का कड़ा विरोध जताया तथा हमले में शहीद जवानों को याद किया।

दक्षिण गोवा के कानाकोना में कश्मीरी व्यापारियों ने अपनी दुकानों को एक दिन बंद करके हमले पर अपना विरोध जताया। शब्बीर अहमद ने कहा कि आज हम सभी व्यापारियों ने अपनी दुकानों को पुलवामा हमले के विरोध में बंद की है। हम इस हमले की कड़ी  निंदा करते हैं। शब्बीर ने कहा कि एक दिन व्यापार का नुकसान देश के आगे कुछ नहीं है। हम सेना के पराक्रम को सलाम करते हैं। हम सब शहीद जवानों के साथ हैं।

Top Stories