Monday , June 25 2018

जयंती नटराजन को माहौलियात के तहफ़्फ़ुज़ का मश्वरा दिया था : राहुल

क्या ग़रीब अवाम और आदि वासियों की बहबूद के लिए ज़ोर देना ग़लत है

क्या ग़रीब अवाम और आदि वासियों की बहबूद के लिए ज़ोर देना ग़लत है

जयंती नटराजन के इल्ज़ामात पर अपनी ख़ामोशी को तोड़ते हुए कि ग्रीन क्लिरेंस के लिए उन्होंने ज़ोर दिया था। राहुल गांधी ने आज कहा कि उन्होंने माहौलियात के तहफ़्फ़ुज़, ग़रीब और आदि वासियों की बहबूद के लिए काम करने की ख़ाहिश करते हुए मकतूब लिखा गया था।

नायब सदर कांग्रेस ने यहां एक रैली में कहा कि मै आप को ये बताना चाहता हूँ कि मैंने ग़रीब और आदि वासियों के लिए कोशिश की है इस लिए जयंती नटराजन को कहा था कि हम को माहौलियात, ग़रीब और आदि वासियों की बहबूद के लिए काम करना चाहिए। ग़रीब, कमज़ोर तबक़ात और पिछड़े ख़ानदानों के लिए अपनी जद्द-ओ-जहद को जारी रखूंगा।

उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि जयंती नटराजन जिन्होंने हाल ही में कांग्रेस से इस्तीफ़ा दिया है, वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी और उन की हुकूमत के इशारों पर अमल करते हुए कांग्रेस पार्टी को निशाना बना रही हैं। राहुल गांधी ने कहा कि उन्होंने सियासत में दाख़िला इस लिए लिया ताकि ग़रीबों और समाज के कमज़ोर तबक़ात की बहबूद के लिए काम करूं और मेरी जद्द-ओ-जहद उस वक़्त तक जारी रहेगी तावक़तीके आदि वासियों और ग़रीबों को मुकम्मल तरक़्क़ी दी जाये।

ये कोशिशें बाज़ ताजिर अफ़राद के लिए नहीं है। उन्होंने वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी पर भी शदीद तन्क़ीद की और इल्ज़ाम आइद किया कि वज़ीर-ए-आज़म सिर्फ़ अपने सनतकार दोस्तों के फ़ायदे के लिए काम कररहे हैं। नटराजन ने गुज़िश्ता हफ़्ते कांग्रेस की इबतेदाई रुकनियत से इस्तीफ़ा दिया था। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया था कि कांग्रेस ने माहौलियात के तहफ़्फ़ुज़ के बहाने उन से इंतेक़ाम लिया है और ये नायब सदर राहुल गांधी के इशारों पर किया गया है।

TOPPOPULARRECENT