जयललिता को ज़हर देने का शक, CBI से जांच कराने संबंधी सुप्रीम कोर्ट में याचिका

जयललिता को ज़हर देने का शक, CBI से जांच कराने संबंधी सुप्रीम कोर्ट में याचिका

नई दिल्ली: चेन्नई की एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) ने तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की मौत की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से जांच कराने से संबंधित एक याचिका सुप्रीम कोर्ट में आज दायर की है। एनजीओ तेलुगू युवा शाकसी ने यह याचिका दायर की है। आवेदक ने कहा कि सुश्री जयललिता को जहर देकर मारने की आशंका है और इसकी सीबीआई जांच पूरी होने तक दिवंगत नेता की संपत्ति हस्तांतरण की अनुमति न दी जाए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह प्रदेश 18 के अनुसार आवेदक ने पूर्व मुख्यमंत्री के इलाज से संबंधित दस्तावेज भी जब्त करने की मांग की है। यह पहला मौका नहीं है जब सुश्री जयललिता के इलाज और उनकी मृत्यु के संबंध में सवाल खड़े किए गए हैं। पिछले नौ दिसंबर को एक तमिल अभिनेत्री गौतमी ताड़माला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संबोधित ब्लॉग में इस बात को लेकर संदेह व्यक्त किया था।

सुश्री ताड़माला ने चेन्नई के अपोलो अस्पताल में सुश्री जयललिता को 75 दिनों तक चलने वाले उपचार से संबंधित गोपनीयता पर सवाल खड़े किए थे।

Top Stories