Monday , December 11 2017

जयाप्रदा को नज़रअंदाज़ किए जाने से खफा अमर सिंह ने सपा छोड़ने की धमकी दी

लखनऊ। तमाम विरोधों के बावजूद सपा की टिकट पर राज्यसभा पहुंचे अमर सिंह अपनी अज़ीज़ सिने तारिक जयाप्रदा और खुद की उपेक्षा से बेहद नाराज़ हैं। उन्होंने कहा कि राज्यसभा सीट के बदले जन्हें अपमान मिल रहा है। वह जल्द ही पार्टी हाई कमान मुलायम सिंह से मिल कर इस बारे में अहम् निर्णय ले सकते हैं। उन्होंने राज्यसभा से इस्तीफा देने तक की मंशा ज़ाहिर की है।
अमर सिंह ने यहाँ कहा कि वह राजनीति से ज्यादा संबंधों को महत्त्व देते हैं। मगर उन्हें राज्यसभा में बोलने तक की इजाज़त नहीं है। मूक बधिर बना दिया गया है। उन्हें ,उनके मित्र यशपाल यादव और बलराम यादव को बारबार अपमान झेलना पड़ रहा है।
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर परोक्ष रूप से हमला बोलते हुए कहा कि फोन करने पर वह कभी लाइन पर नहीं आते। हर बार उनके सचिव यही कहते हैं कि उनका नाम लिस्ट में शामिल कर लिया गया है। उन्हें बता दिया जाएगा। जल्द ही आपकी जनसे बात करा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि वह मुलायमवादी हैं। उनकी बड़ी इज्जत करते हैं। उनके कारण ही दोबारा सपा में आए हैं। अभी समझ में नहीं आ रहा है कि पार्टी का असली मुखिया कौन है। अमर सिंह ने कहा कि वह जल्द ही इन बातों को लेकर मुलायम सिंह से मिलेंगे और आगे की रणनीति तय करेंगे। वह पार्टी से इस्तीफा भी दे सकते हैं। यह इस्तीफा सपा अध्यक्ष के बदले उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी को सौंपेंगे। यहाँ उल्लेखनीय है कि अमर सिंह का यह बयान उस वक्त आया है जब सीनियर काबीना मंत्री शिवपाल यादव और भतीजे व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच मुलाकात के बाद उनके दरम्यान व्यप्त विवाद समाप्त होने का दावा किया जा रहा है।

लखनऊ से एम ए हाशमी

TOPPOPULARRECENT