Sunday , December 17 2017

जय ललिता की अपील पर हुक्म इलतिवा से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

नई दिल्ली

नई दिल्ली

सुप्रीम कोर्ट ने साबिक़ चीफ मिनिस्टर त‌मिलनाडू जय ललिता की सज़ा के ख़िलाफ़ अपील की कर्नाटक हाइकोर्ट में समाअत पर हुक्म इलतिवा जारी करने से इनकार करदिया है। जय ललिता ने अपनी अपील में गैर मह्सूब असासा जात के मुक़द्दमे में उन्हें सुनाई गई सज़ा को चैलेंज किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि अदालत इस केस में पब्लिक प्रॉसिक्यूटर की तबदीली के ताल्लुक़ से डी एम के लेलार के अंबाज़ घुन की दरख़ास्त पर फैसला करसकती है। जस्टिस मुदुन बी लोकुर की क़ियादत वाली एक बेंच ने अंबाज़ घुन की दरख़ास्त पर ऑल इंडिया अन्ना डी एम के सरबराह के अलावा दूसरे सज़ा याफ़तगान को नोटिस जारी की है जिन में जय ललिता की करीबी साथी शशी कला और उन के दो रिश्तेदार शामिल हैं।

इस के अलावा हुकूमत कर्नाटक और पब्लिक प्रॉसिक्यूटर भवानी सिंह को भी नोटिस जारी की गई है। सुप्रीम कोर्ट ने इस केस में आइन्दा समाअत 18 मार्च को मुक़र्रर की है। अंबाज़ घुन ने अपनी दरख़ास्त में अदालत से इस्तिदा की थी कि कर्नाटक हाइकोर्ट में जय ललिता की अपील पर जो समाअत जारी है इस पर हुक्म इलतिवा जारी किया जाये क्योंकि पब्लिक प्रॉसिक्यूटर अब रियासत की मदद नुमाइंदगी का हक़ नहीं रखते।

दरख़ास्त गुज़ार ने पब्लिक प्रॉसिक्यूटर को तब देलकरने की भी ख़ाहिश की थी । सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एसा लगता है कि हाइकोर्ट में अपील पर समाअत इख़तेतामी मराहिल में है इसे में समाअत पर हुक्म इलतिवा जारी नहीं किया जा सकता।

TOPPOPULARRECENT