Monday , July 23 2018

जरूरत पड़ी तो मार्क जकरबर्ग को भेजेंगे नोटिस- कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद

भारत सरकार ने बुधवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक को आगाह किया कि यदि उसने देश की चुनाव प्रक्रिया को किसी भी अवांछित तरीके से प्रभावित करने का प्रयास किया तो उसे कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ेगा. अमेरिका के नियामक द्वारा फेसबुक के खिलाफ प्रयोगकर्ताओं की गोपनीयता के संभावित उल्लंघन की जांच की जा रही है.

सूचना प्रौद्योगिकी और कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज कहा कि सरकार प्रेस, भाषण और अभिव्यक्ति की आजादी का पूरा समर्थन करती है. साथ ही वह सोशल मीडिया पर विचारों के आदान प्रदान के पक्ष में भी है.

संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में प्रसाद ने कहा कि फेसबुक सहित कोई भी सोशल मीडिया साइट यदि अवांछित तरीके से देश की चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने का प्रयास करती है, तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.‘‘ जरूरत होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’’

अमेरिकी संघीय व्यापार आयोग( एफटीसी) फेसबुक की इस बात के लिए जांच कर रहा है कि क्या उसने प्रयोगकर्ताओं के लाखों आंकड़े एक राजनीतिक परामर्श एजेंसी को दिए थे. मीडिया की खबरों में आरोप लगाया गया है कि कैंब्रिज एनलिटिका ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के2016 के चुनाव अभियान में इन आंकड़ों का इस्तेमाल किया था.

TOPPOPULARRECENT