Saturday , December 16 2017

जर्मनी से मुहाजिरीन की दूसरे यूरोपीय मुल्कों में वापसी दरुस्त – मीरकल

जर्मन चांसलर एंजिला मीरकल ने वज़ीरे दाख़िला थोमास डेमेज़ म्यूर के इस फ़ैसले का दिफ़ा किया है जिसके मुताबिक़ अब मुहाजिरीन को वापिस उसी यूरोपीय यूनीयन के रुक्न मुलक भेज दिया जाएगा जहां से वो यूरोपीय यूनीयन की हदूद में दाख़िल हुए थे।

जर्मनी के वज़ीरे दाख़िला ने तीन हफ़्ते क़ब्ल ये फ़ैसला किया था। ताहम उन्होंने इस फ़ैसले के बारे में ना तो एंजिला मीरकल को इत्तिला दी थी और ना ही उनके चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ पीटर आलटमाइर को आगाह किया था। आलटमाइर मुहाजिरीन से मुताल्लिक़ उमूर के वफ़ाक़ी मुशीर भी हैं और तारकीने वतन से मुताल्लिक़ हुकूमती इक़दामात की निगरानी भी करते हैं।

वज़ीरे दाख़िला थोमास डेमेज़ म्यूर ने डबलिन ज़ाबता नामी इस क़ानून का इतलाक़ गुज़िश्ता माह इक्कीस अक्तूबर से करने का फ़ैसला किया था। डबलिन ज़ाबते के मुताबिक़ तारकीने वतन यूरोपीय यूनीयन के इसी मुल्क में पनाह की दरख़ास्त दे सकते हैं, जहां वो सबसे पहले पहुंचे हों।

जर्मन चांसलर एंजिला मीरकल ने रवां बरस अगस्त में ऐलान किया था कि शाम से आने वाले तारकीने वतन पर इस क़ानून का इतलाक़ नहीं होगा।

TOPPOPULARRECENT