Tuesday , January 23 2018

जर्मन कंपनी रांची में बनाएगी जहाज के इंजन, सिंगल विंडो सिस्टम की शुरुआत

रांची : वजीरे आला रघुवर दास ने मंगल को रांची के होटल बीएनआर चाणक्या में सिंगल विंडो सिस्टम का इफ़्तिताह किया। इस मौके पर उन्होंने कहा है कि साल 2003 में रियासत में जिस सिंगल विंडो सिस्टम की कयाम की गई थी, उससे रियासत की पूरी दुनिया में हंसी उड़ी थी। नए सिस्टम लाकर बेहतर काम किया गया है। आईटी के जरिये 70 फीसद बदउनवान कम हो सकता है।
सरकार इसी कोशिश में तमाम महकमा में ऑनलाइन सिस्टम शुरू कर रही है। सरकार सरमायकारों को हर मुमकिन मदद देगी। हर दो महीने पर वे सरमायकारों के साथ डाइरेक्ट बातचीत करेंगे। वजीरे आला दफ्तर उनकी परेशानियों को खत्म करने के लिए मॉनिटरिंग करेगा।

सयअत महकमा की तरफ से भी चार पॉलिसियों का इफ़्तिताह किया गया। इनके नाम झारखंड फूड प्रोसेसिंग पॉलिसी,फीड प्रोसेसिंग पॉलिसी, इंडस्ट्रियल पार्क पॉलिसी और एक्सपर्ट पॉलिसी है। इनके बाद रियासत में इन्वेस्ट करने वालों को फायदा होगा।

मेक इन इंडिया प्रोग्राम में झारखंड ज्यादा फायदा उठा सकता है। डिफेंस शोबे में काम करने वाली तीन जर्मन कंपनियों से मरकज़ की बात चल रही है। ये कंपनियां रांची में प्लांट लगाएंगी। यह जानकारी गार्डन-रिच शिप बिल्डर्स इंजीनियर्स लि. के सीएमडी एडमिरल एके वर्मा ने दी। उन्होंने कहा, कि जहाज का इंजन जर्मनी से भारत आता है। उम्मीद है कि जर्मन कंपनियां जल्द ही रांची वाकेय गार्डन-रिच में इन इंजनों की तामीर शुरू करेंगी।

TOPPOPULARRECENT