Monday , December 18 2017

जहेज़ की लानत और हरासानी: दो मुस्लिम ख़वातीन की मौत

शहर के नवाही इलाक़ों में आज दो मुस्लिम ख़वातीन जहेज़ की भेंट चढ़ गईं। शहर के नवाही इलाक़ों में पेश आए उन वाक़ियात के बाद अंदाज़ा होता है कि मुस्लिम समाज में जहेज़ जैसी लानत इस क़दर सराएत करगई है कि अब एक मोहलिक मर्ज़ की शक्ल इख़ति

शहर के नवाही इलाक़ों में आज दो मुस्लिम ख़वातीन जहेज़ की भेंट चढ़ गईं। शहर के नवाही इलाक़ों में पेश आए उन वाक़ियात के बाद अंदाज़ा होता है कि मुस्लिम समाज में जहेज़ जैसी लानत इस क़दर सराएत करगई है कि अब एक मोहलिक मर्ज़ की शक्ल इख़तियार करती जा रही है। पहाड़ी शरीफ़ और मियांपूर पुलिस स्टेशन हदूद में 40 साला सय्यदा आलीया अपने शौहर सय्यद साबिर के हमला में हलाक हो गई।

बावसूक़ ज़राए के मुताबिक़ सय्यदा आलीया को इस के शौहर सय्यद साबिर और इस के बहनोई अकबर ने मुबय्यना तौर पर हलाक करदिया। कुत्ता पेट बिसमिल्लाह कॉलोनी में कल रात देर गए ये वारदात पेश आई। आलीया और साबिर की शादी चार साल क़बल हुई थी। इन्सपेक्टर पहाड़ी शरीफ़ मुनव्वर पाशाह के मुताबिक़ आलीया की ये दूसरी शादी थी।इस ने जहेज़ केलिए बीवी को मायके भेज दिया लेकिन ख़ाली हाथ लौटने पर हमला करके ज़ख़मी करदिया जो दवाख़ाना में फ़ौत होगई।दूसरे वाक़िया जो मियांपूर पुलिस स्टेशन हदूद में पेश आया 20 साला ज़रीना बेगम ने फांसी लेकर ख़ुदकुशी करली।

मियांपूर का सकिन शेख़ अहमद बीवी को ज़हनी-ओ-जिस्मानी अज़ीयत का शिकार बना रहा था। जिस से दिलबर्दाशता होकर इस नौ माह की दुल्हन ने इंतिहाई इक़दाम करते हुए ख़ुदकुशी करली। पुलिस ने इस सिलसिला में मुक़द्दमा दर्ज करलिया है।

TOPPOPULARRECENT